Breaking Newsराष्ट्रीय

कितने ही परिवारों पर काल बनकर टूट रहे हैं अवैध संबंध, परिवारों का विखंडन अवैध संबंधों का सबसे बड़ा कारण

आधुनिकता भी अवैध संबंधों के लिए काफी हद तक जिम्मेदार

image_pdf

गाजियाबाद। आधुनिकता और परिवारों का विखंडन समाज के लिए अभिशाप बनता जा रहा है। एकल परिवार की महिलाओं और पुरुषों में अवैध संबंध के मामले बहुत अधिक सामने आ रहे हैं। अवैध संबंध अनेक परिवारों पर काल बनकर टूट रहे हैं। अवैध संबंधों के चलते परिवार बर्बाद हो रहे हैं, बच्चे अनाथ हो रहे हैं, किशोर हो रहे बच्चों पर भी इनका बुरा असर पड़ रहा है। समाज शास्त्रियों का मानना है कि संयुक्त परिवारों में महिला और पुरुषों दोनों पर ही परिवार के बुजुर्गों का अंकुश रहता था जिस कारण सामाजिकता का बड़ा असर सभी के ऊपर बना रहता था और इस तरह के मामले बहुत कम सामने आते थे। आज का मंथन अवैध संबंधों के कारण हो रही हत्याओं पर आधारित है।
हरियाणा के भिवानी क्षेत्र में बवानीखेड़ा थाना क्षेत्र में लोहारी से सुई लिंक रोड पर एक पुरुष का शव बरामद हुआ था। बवानी खेड़ा के इंस्पेक्टर जय सिंह को जांच पड़ताल में पता चला कि शव लोहारी निवासी श्रीकांत का है। आगे हुई जांच पड़ताल में सामने आया कि श्रीकांत की पत्नी से उसके मित्र गगन के अवैध संबंध थे। श्रीकांत दोनों के अवैध संबंधों का विरोध कर रहा था ‌ कई बार घर में झगड़ा भी हुआ था। श्रीकांत का ₹500000 का बीमा था। बीमा की रकम हड़पने और उसे रास्ते से हटाने के लिए शराब पिलाकर उसकी हत्या की गई और फिर शव फेंक दिया गया। पुलिस ने गगन और श्रीकांत की पत्नी दोनों को गिरफ्तार कर लिया है।
हरियाणा के कुरुक्षेत्र में नरवाना नहर के पास बुरी तरह कुचला हुआ एक युवक का शव पुलिस ने बरामद किया था। पुलिस ने चौकी ठीक से जांच पड़ताल की तो पता चला कि यह दुर्घटना नहीं है बल्कि योजनाबद्ध ढंग से युवक की हत्या की गई है। जांच पड़ताल में युवक की पहचान संजीव के रूप में हुई। उसकी पत्नी के बयान पुलिस को उलझे हुए दिखाई दिए जिस पर उससे गहनता से पूछताछ की गई तो पता चला कि पत्नी ने ही अपने प्रेमी के साथ मिलकर पति की हत्या कराई है। संजीव को पहले उसकी पत्नी के प्रेमी ने शराब पिलाई और उसके बाद नरवाना नहर पर कार से कुचलने का नाटक कर फरार हो गया। पुलिस ने हत्या में शामिल संजीव की पत्नी, उसके प्रेमी और दो अन्य युवकों को गिरफ्तार किया है।
ग्रेटर नोएडा के रबूपुरा थाना क्षेत्र के गांव फ फलेदा निवासी प्रवीण का शव पुलिस ने रजवाहे के पास से बरामद किया था। इस मामले में मृतक की पत्नी ने अपने पति की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इसने गहनता से जांच पड़ताल की तो पता चला कि प्रवीण की पत्नी के अवैध संबंध प्रवीण के बहनोई के साथ थे। पूछताछ में प्रवीण की पत्नी ने बताया कि उसे कोई संतान नहीं थी। प्रवीण शराब पीकर उसे अक्सर ही बुरी तरह पीटता था। पति की उपेक्षा से पीड़ित प्रवीण की पत्नी के अवैध संबंध उसके बहनोई से हो गए। आगे हुई जांच पड़ताल में सामने आया कि थाना खुर्जा देहात के गांव क्योली निवासी प्रवीण के बहनोई बलवीर ने प्रवीण की पत्नी के साथ मिलकर उसकी हत्या की थी ‌। हत्या कराने के लिए तीन युवकों को एक लाख में तैयार किया गया था। पुलिस ने तीनों सुपारी किलर और प्रवीण के बहनोई बलवीर के साथ-साथ उसकी पत्नी को भी गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।
नोएडा के सेक्टर 20 थाना क्षेत्र अंतर्गत गत 26 जून को पुलिस ने एक युवक का शव बरामद किया था जिसके हाथ रस्सी से बंधे थे। मृतक की शिनाख्त सेक्टर 8 में रहने वाले ई रिक्शा चालक 32 वर्षीय चुन्नू पासवान के रूप में हुई। पूछताछ में जानकारी मिली की चुन्नू पासवान शराब के नशे में अक्सर ही पत्नी की बुरी तरह पिटाई करता था। 25 जून की रात भी उसने पत्नी को बुरी तरह पीटा और नशे में धुत होकर सो गया। पासवान के सोने के बाद उसकी पत्नी ने उसके हाथ बांधे और फिर बेलन से गला दबाकर पति की हत्या कर दी। बाद में ई रिक्शा में शव डालकर पड़ोस के पार्क में फेंक आई। हत्या के आरोप में पुलिस ने पासवान की पत्नी को गिरफ्तार कर लिया है।
हरियाणा राज्य के भिवानी थाना क्षेत्र के कलिंगा गांव निवासी सुधीर की पत्नी मंजू में अपने पति की गुमशुदगी अक्टूबर 2019 में दर्ज कराई थी। जांच पड़ताल में पुलिस के हाथ जयवीर नामक युवक तक पहुंचे जिससे पता चला कि मंजू और जयवीर ने अवैध संबंधों के चलते सुधीर को रास्ते से हटाने के लिए उसकी हत्या की थी। 27 अक्टूबर की रात मंजू ने अपने पति सुधीर को दूध में नशे की गोलियां डालकर पिला दी फिर दोनों ने पहले सुधीर का गला घोटा और फिर चाकू से उसकी गर्दन काट दी। हत्या के बाद सुधीर का शव दोनों ने कार में डालकर महेंद्रगढ़ जिले की माधवगढ़ पहाड़ियों में फेंक दिया। दोनों को गिरफ्तार कर लिया है।
दिल्ली के बुद्ध विहार निवासी अतर सिंह की मौत का कारण बनी उसकी पत्नी और उसके बीच 20 वर्ष का बड़ा अंतर। अतर सिंह से 20 वर्ष छोटी उसकी पत्नी के संबंध पड़ोस में ही रहने वाले पश्चिम बंगाल निवासी वीरू बरमन से हो गए। इस कारण घर में कल ही रहती थी। अतर सिंह को रास्ते से हटाने के लिए वीरू बरमन ने अपने एक अन्य साथी करण के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी और शव मायापुरी औद्योगिक क्षेत्र में फेंक दिया। पुलिस ने अतर सिंह की पत्नी, बर्मन और करण को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।
दिल्ली के द्वारका निवासी कारोबारी रमेश का हरियाणा के सोनीपत में कारपेट निर्माण का अच्छा काम है। घर में सब कुछ होने के बावजूद रमेश अपनी पत्नी को कारोबार के चलते समय नहीं दे पाता था। इसी बीच रमेश की पत्नी के संबंध उसके दोस्त से हो गये। पता चलने पर रमेश ने विरोध किया और तलाक के लिए कोर्ट में अर्जी दायर कर दी। रमेश का दोस्त उस पर तलाक की अर्जी वापस लेने का दबाव डाल रहा था। एक दिन घर में घुसकर दोस्त ने ही अवैध संबंधों में रोड़ा बन रहे रमेश की अंधाधुंध गोलियां मारकर हत्या कर दी। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया है।
गुरुग्राम में मेरठ निवासी संदीप और उसके गाजियाबाद निवासी मा मेरे भाई सचिन के बीच घनिष्ठ संबंध थे। दोनों एक दूसरे को बहुत अच्छे ढंग से चाहते थे। सचिन गुरुग्राम की एक फैक्ट्री में अच्छे पद पर था। इसी बीच उसने अपने ममेरे भाई संदीप को भी वही नौकरी दिलवा दी। एक ही घर में रहते हुए संदीप के संबंध सचिन की पत्नी से हो गये। यहीं से दोनों भाइयों के प्यार में दरार पड़ गई। 1 दिन दोनों स्कूटी द्वारा कहीं जा रहे थे। इस दौरान द्वारका एक्सप्रेस वे पर पीछे बैठे संदीप ने सचिन की पीठ में गोली मार दी और फरार हो गया। संदीप की जान तो बच गई लेकिन सचिन इस मामले में गिरफ्तार हो गया है।
लोनी क्षेत्र के ट्रॉनिका सिटी थाना अंतर्गत दौलत नगर में 1 दिन सुबह उस समय हड़कंप मच गया जब एक महिला का शव एक खाली पड़े प्लाट में मिला। पुलिस द्वारा की गई जांच पड़ताल मे महिला की पहचान कविता के रूप में हुई। दिसंबर 2019 में हुई कविता की हत्या के मामले में पता चला कि वह अपने पहले पति को छोड़कर एक अन्य युवक के साथ लिव-इन में थी। युवक को हिरासत में लेकर पुलिस ने पूछताछ की तो युवक ही हत्यारा निकला। उसने बताया कि कविता उस पर पत्नी और बच्चों को छोड़कर विवाह के लिए दबाव बना रही थी। पीछा छुड़ाने के लिए उसने कविता की हत्या का फैसला किया। कविता को नशे की गोलियां खिलाकर चाकू से गोदा और खाली प्लाट में फेंक दिया।
दिल्ली के जैतपुर क्षेत्र की शिवपुरी कॉलोनी में एक युवा घर पहुंचा। दरवाजा खुलवाने के लिए जैसे ही उसने दरवाजे को खटखटाना चाहा तो पता चला कि दरवाजा खुला हुआ है। दरवाजा खुला छोड़ने पर उसे पत्नी पर गुस्सा आया और वह अंदर घुस गया। घर के अंदर का दृश्य देखकर उसका खून खोल उठा। जिस पत्नी को वह जी जान से अधिक चाहता था वही पत्नी उसके पड़ोसी विनोद यादव की बाहों में थी। यह देख कर कासिम शेख का खून खौल उठा और उसने घर के कोने में रखी लोहे की रॉड उठाकर विनोद यादव को पीटना शुरू कर दिया।विनोद यादव को कासिम शेख ने तब तक पीटा जब तक कि उसकी मौत नहीं हो गई। विनोद यादव की जान चली गई, कासिम शेख आज जेल में है और उसकी पत्नी दर बदर की ठोकर खाने के लिए मजबूर है।
यह कुछ घटनाएं हैं जो समाज में आ रही विद्रूपता का खुला चेहरा हैं। शायद ही कोई दिन जाता है जिस दिन अवैध संबंधों को लेकर कोई वारदात सामने नहीं आती हो। पुलिस अधिकारियों का मानना है कि एकल परिवारों में महिला का घर पर अकेला रहना और शराब के चलन के कारण घर में मित्रों के साथ पार्टी करना अवैध संबंधों को बढ़ावा दे रहा है। यह कानून व्यवस्था का मामला भी नहीं है। समाज का ढीला होता अंकुश इन वारदातों के लिए काफी हद तक जिम्मेदार है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close