Breaking Newsराष्ट्रीय

गाजियाबाद: संवेदनहीन जनप्रतिनिधि पुलिस और प्रशासन

अस्पताल तक नहीं पहुंचे विधायक व मंत्री अतुल गर्ग

image_pdf

गाजियाबाद – पत्रकार विक्रम जोशी की दुखद मौत के बाद संवेदनहीन पुलिस प्रशासन और जनप्रतिनिधियों की संवेदना नहीं जागी। बदमाशों की गोली का शिकार हुए विक्रम जोशी की दुखद मृत्यु की खबर चारों तरफ फैलने के बावजूद यशोदा अस्पताल से चंद कदम की दूरी पर रहने वाले स्थानीय विधायक और प्रदेश सरकार में मंत्री अतुल गर्ग अस्पताल तक नहीं पहुंचे। जिलाधिकारी अजय शंकर पांडे और एसएसपी कलानिधि नैथानी ने अपने कनिष्ठ अधिकारियों को यशोदा अस्पताल भेजकर अपनी जिम्मेदारी पूरी कर ली। जिस तरह पत्रकार विक्रम जोशी को सरेआम गोली मारी गई है वह गाजियाबाद की पुलिस व्यवस्था पर बदनुमा दाग है। विक्रम जोशी पत्रकार ही नहीं दो बेटियों के पिता और अपने परिवार के लिए जिम्मेदार व्यक्ति थे। पुलिस की कोई भी कार्रवाई उनके परिवार की इस क्षति की भरपाई नहीं कर सकती। इसके बावजूद गाजियाबाद पुलिस पर विशेषकर विजय नगर पुलिस पर अनेक सवाल खड़े हो रहे हैं। जानकारी मिल रही है कि विक्रम जोशी द्वारा दी गई तहरीर के बारे में थाना प्रभारी विजय नगर भी जानते थे। इतना होने पर भी बदमाशों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की गई।बदमाशों के खिलाफ कार्यवाही की जाती तो शायद आज विक्रम जोशी हम सबके बीच जिंदा होते।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close