Breaking Newsउत्तर प्रदेशहमारा गाजियाबाद

कोरोना संक्रमण काे फैलने से रोकने के लिए अब गाजियाबाद में हर राेज 4000 टेस्ट ।

कोरोना संक्रमण काे फैलने से रोकने के लिए अब गाजियाबाद में हर राेज 4000 टेस्ट ।

image_pdf

गाजियाबाद कोरोनावायरस संक्रमण काे फैलने से राेकने के लिए गाजियाबाद में अब दाे जुलाई से हर राेज चार हजार टेस्ट किए जाएंगे। जिला प्रशासन ने इसके लिए 13 कॉलेज का अधिग्रहण किया है। चार हज़ार बेड की व्यवस्था की गई है। इस अभियान के लिए 240 डाक्टर्स की जरूरत है। इन सभी 13 कॉलेज को कोविड एल-1 हॉस्पिटल बनाया जाएगा।

मामले की जानकारी देते हुए गाजियाबाद के मुख्य चिकित्सा अधिकारी नरेंद्र कुमार गुप्ता ने बताया कि जनपद में कोविड-19 संक्रमण लगातार फैल रहा है। इसी काे ध्यान में रखते हुए मुख्य सचिव के निर्देशानुसार दाे जुलाई से अभियान चलाकर रोजाना 4000 टेस्ट कराए जाने की योजना बनाई है। इसके लिए 240 चिकित्सकों की 7 टीम गठित कर यह अभियान चलाया जाएगा। इसके अलावा गाजियाबाद के बड़े कॉलेज को चिन्हित किया गया है। इन सभी काे कोविड-19 हॉस्पिटल बनाए जाने की योजना तैयार की गई है। इन 13 कॉलेज में कुल 4000 बेड की व्यवस्था की गई है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी नरेंद्र कुमार गुप्ता का कहना है कि गाजियाबाद और नोएडा में संक्रमण फैलने का ज्यादा खतरा है। इसलिए शासन से भी इन जिलों में बेड और अस्पतालबढ़ाए जाने के लिए कहा गया है। जिसके चलते शासन से कॉलेज अधिग्रहित करने की अनुमति मांगी गई थी। प्रशासन से भी अनुमति मिल गई है और उस पर कार्य शुरू कर दिया गया है।

अभी तक गाजियाबाद में 17,158 संदिग्ध लोगों के टेस्ट हुए हैं। इनमें से 1,658 पॉजिटिव पाए गए हैं। यानी साफ है कि जिले में टेस्ट के अनुरूप पॉजिटिव मरीजों की मिलने के मिलने का अनुपात 9.66 % है। इसी काे देखते हुए अब शासन के निर्देश पर 2 जुलाई से जिले में 10 दिनों तक प्रतिदिन चार हजार टेस्ट किए जाने हैं । इस दाैरान पॉजिटिव मरीज मिलने का यही प्रतिशत रहा तो प्रतिदिन 384 मरीज पॉजिटिव पाए जा सकते हैं और 10 दिनों में 3,840 इनकी संख्या पहुंच सकती है।

आईएमएस कॉलेज में 450 बेड, एकेजी आईटी में 400 बेड, आइडियल इंस्टिट्यूट में 350 बेड, एमआरएस यूनिवर्सिटी में 450 बेड , सुंदरदीप आयुर्वेदिक अस्पताल में 200 बेड , आईडीएसपी कॉलेज में 200 बेड, आईडीएसटी कॉलेज में 100 बेड, बांके बिहारी कॉलेज में 200 बेड , आईएएमआर कॉलेज में 150 बेड , आईपीएस कॉलेज मोहन नगर में 400 बेड, सरकारी अस्पताल नंद ग्राम में 250 बेड, इंद्रप्रस्थ इंजीनियरिंग कॉलेज में 500 बेड, इंद्रप्रस्थ डेंटल कॉलेज में 200 बेड ,एमएमएच कॉलेज में 300 बेड की व्यवस्था होगी।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी का कहना है कि कोविड-19 याेजना काे संचालित करने के लिए कुल 240 चिकित्सकों की आवश्यकता होगी। इसके अलावा 360 स्टाफ नर्स 80 फार्मासिस्ट 80 लैब टेक्नीशियन 240 वार्ड बॉय और 360 सफाई कर्मचारियों की आवश्यकता होगी। फिलहाल जिले में मौजूद चिकित्सक और कर्मचारियों को शामिल करके कुल 7 टीमों का गठन किया गया है। इन टीमों में 36 चिकित्सक समेत 204 अन्य स्टाफ को शामिल किया गया। है। इन सभी के संचालन के लिए 33 टीमों के लिए जरूरी स्टाफ के लिए प्रशासन से वार्ता की जा रही है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close