Breaking Newsउत्तर प्रदेशहमारा गाजियाबाद

अखिल भारतवर्षीय ब्रह्माण महासभा ने सोशल डिस्टेंसिग के साथ सभी धार्मिक स्थलों को खोलने की मांग की – पंडित प्रमोद शर्मा

अखिल भारतवर्षीय ब्रह्माण महासभा ने सोशल डिस्टेंसिग के साथ सभी धार्मिक स्थलों को खोलने की मांग की - पंडित प्रमोद शर्मा

आज कोरोना वाइरस जैसी वैश्विक महामारी के चलते लगभग 65 दिनों से ज्यादा दिनों से पूरे देश में लाँक डाउन चल रहा है और देश में लगभग 1 लाख 82 हजार से भी ज्यादा लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं और लगभग 5 हजार से भी ज्यादा लोगों की मौतें हो चुकी है और 82 हजार से ज्यादा लोग ठीक भी हो चुके हैं थोड़ी राहत की बात यह भी है कि ठीक होने आंकड़ा धीरे धीरे बढता जा रहा है लेकिन अब लाँक डाउन में केंद्र सरकार एवं प्रदेश सरकारों की तरफ धीरे धीरे छुट मिलने के बाद बाजार खुलने शुरू हो गये हैं और उधोगों और कार्यालयों आदि में भी कामकाज शुरू हो गया है रेल, बस, मेट्रो का भी संचालन धीरे धीरे शुरू किया जा रहा है यहां तक कि देश में शराब के ठेकों तक को भी सरकार ने पहले ही खोल दिया है जहां पर सोशल डिस्टेंसिग के नाम पर केवल खाना पूर्ति ही कि जा रहीं है।
यानि की अब जिंदगी एक बार धीरे धीरे पटरी पर लोट रहीं हैं वहीं देश के सभी धार्मिक स्थलों को अभी भी बंद रखना कहा तक सही है अखिल भारतवर्षीय ब्रह्माण महासभा के प्रदेश अध्यक्ष पंडित प्रमोद शर्मा एवं प्रदेश महामंत्री पंडित नवनीत शर्मा ने देश की सरकार एवं प्रदेश की सरकार से ये मांग करते हुए कहा हैं कि देश के सभी धार्मिक स्थलों को सामाजिक दूरी बनाकर धीरे धीरे खोला जाये ताकि लगभग पिछले 65 दिनों से बंद पड़े सभी धार्मिक स्थलों में पुजा अर्चना कर रुष्ट देवी देवताओं को मनाया जा सके और उनकी पुजा अर्चना कर भगवान से प्रार्थना कर इस कोरोना वाइरस जैसी महामारी से विश्व को जल्द से जल्द छुटकारा मिल सके और अखिल भारतवर्षीय ब्रह्माण महासभा सभी धार्मिक स्थलों में रहने वाले सभी पुजारियों के लिए देश कि सरकार और प्रदेश की सरकारों से मांग करती है कि धार्मिक स्थलों के सभी पुजारियों को सरकार की तरफ से 5100 रुपये प्रतिमाह अनुदान के रूप में दिये जाये ताकि वो अपना और अपने परिवार का भी पालन पोषण कर सकें।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close