अंतर्राष्ट्रीय

कोरोना वैक्सीन की उम्मीद बढ़ी, अमेरिकी कंपनी ने किया ह्यूमन ट्रायल, मिले बेहतर नतीजे

कोरोना वैक्सीन की उम्मीद बढ़ी, अमेरिकी कंपनी ने किया ह्यूमन ट्रायल, मिले बेहतर नतीजे

image_pdf

चीन के वुहान शहर से फैले कोरोना वायरस के प्रकोप से इन दिनों पूरी दुनिया जूझ रही है. ऐसे में कई देश इस महामारी के वैक्सीन की खोज में जुटे हुए हैं. दुनिया भर की तमाम लैबों में वैज्ञानिक दिन-रात एक कर वैक्सीन को जल्द से जल्द इजात करने की कोशिशों में लगे हुए हैं. इस बीच अमेरिका की दवा कंपनी मॉडर्ना ने कोरोना वैक्सीन बनाने की उम्मीदें बढ़ा दी हैं.

कंपनी ने वैक्सीन बनाने की प्रक्रिया में एक अहम चरण पार कर लिया है. बताया जा रहा है कि कंपनी ने वैक्सीन का ह्यूमन ट्रायल शुरू कर दिया है और ह्यूमन ट्रायल के नतीजे भी काफी बेहतर मिले हैं. कंपनी ने कहा है कि ह्यूमन क्लीनिकल ट्रायल के शुरुआती नतीजे सकारात्मक आने के बाद जुलाई में वैक्सीन के ट्रायल का तीसरा चरण शुरू हो जाएगा.

जानकारी के मुताबिक अब अगर तीसरा चरण सफल रहा तो कंपनी वैक्सीन बनाने का लाइसेंस हासिल करने के लिए अप्लाई कर सकेगी. बता दें कि मॉडर्ना पहली दवा कंपनी है जिसने अपनी आरएनए आधारित वैक्सीन का ह्यूमन ट्रायल किया है. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी कह चुके हैं कि साल के अंत तक कोरोना की वैक्सीन आ सकती है.

मॉडर्ना कंपनी आरएनए आधारित वैक्सीन mRNA-1273 के मानव परीक्षणों की घोषणा करने और उसे अंजाम देने वाली पहली अमेरिकी कंपनी थी. कंपनी ने अमेरिका के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एलर्जी एंड इंफेक्शियस डिजीज (NIAID) के नेतृत्व में पहले चरण के अध्ययन से अपने वैक्सीन के मानव परीक्षणों के सकारात्मक परिणामों के ​​आंकड़ों की भी घोषणा की थी.

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close