Breaking Newsराष्ट्रीय

हरियाणा में प्रवासी मजदूरों की उलटी चाल, यूपी-बिहार के एक लाख से ज्यादा लोगों ने जताई लौटने की इच्छा

हरियाणा में प्रवासी मजदूरों की उलटी चाल, यूपी-बिहार के एक लाख से ज्यादा लोगों ने जताई लौटने की इच्छा

लॉकडाउन के चलते देश में प्रवासी मजदूरों का पलायन लगातार जारी है। हालांकि हरियाणा में इसका उल्टा दिखाई दे रहा है। दरअसल हरियाणा सरकार के वेब पोर्टल पर एक लाख से ज्यादा प्रवासी मजदूरों ने राज्य में काम पर लौटने के लिए आवेदन किया है। हरियाणा लौटने की इच्छा जाहिर करने वाले प्रवासी मजदूर यूपी और बिहार के हैं। आंकड़ों के अनुसार, जिन 1.09 लाख प्रवासी मजदूरों ने हरियाणा काम पर लौटने की इच्छा जाहिर की है, उनमें से 79.29 फीसदी गुरुग्राम, फरीदाबाद, पानीपत, सोनीपत, झज्जर, युमनानगर और रेवाड़ी लौटना चाहते हैं। वहीं 50 हजार से ज्यादा अकेले गुरुग्राम आना चाहते हैं। गौरतलब है कि हरियाणा में सबसे ज्यादा इंडस्ट्री और बिजनेस ईकाइयां इन्हीं जिलों में हैं। हरियाणा के मुख्य सचिव अनुराग रस्तोगी ने बताया कि यदि प्रवासी मजदूर हरियाणा आना चाहते हैं तो हम उन्हें वापस लाने का इंतजाम करेंगे। राज्य में औद्योगिक गतिविधियां पहले ही शुरू हो चुकी हैं। अधिकारियों का मानना है कि हरियाणा में कोरोना मरीजों की कम संख्या भी प्रवासी मजदूरों के लौटने की बड़ी वजह है। बता दें कि हरियाणा में कोरोना के कुल मरीज 647 हैं, इनमें से 14 इटली के निवासी भी शामिल हैं। राज्य में अब तक कोरोना से 8 लोगों की मौत हुई है और 279 लोग बीमारी से रिकवर भी हो चुके हैं।”

Show More

Related Articles

Close