Breaking Newsराष्ट्रीय

CoronaVirus: ताज पर लटके ताले, 372 साल में ऐसा हुआ तीसरी बार

CoronaVirus: ताज पर लटके ताले, 372 साल में ऐसा हुआ तीसरी बार

image_pdf

17 मार्च 2020, मंगलवार की सुबह है। धूप गुनगुनी। दुनिया के कोने कोने से शहंशाह शाहजहां और बेगम मुमताज महल की अजीम मुहब्‍बत की सदियों से दास्‍तां बयां करती आ रही सफेद संगमरमरी इमारत ताजमहल को देखने की ललक लिए लोग आज भी आए हैं। सूर्योदय के साथ खुलने वाले इस स्‍मारक पर ताला लटका देख हताश हैं। इधर उधर जानकारी की तो पता चला ये ताला अब 15 दिन बाद खुलेगा। ये सुन मायूसी और बढ़ गई। इनमें कुछ विदेशी भी थे और कुछ देश के ही दूसरे प्रांतों से आए लोग। जो अखबार, टीवी की खबरों से बेखबर थे। इतना रुपया खर्च कर और महीनों पहले से प्रोग्राम बनाकर आगरा पहुंचे ये लोग ताजमहल के दरवाजे से जब बिना दीदार किए वापस लौटे तो मलाल के अलावा कोई और भाव नहीं था। ताज देखना तो है पर अब दूर से ही सही, इस सोच के साथ कुछ दशहरा घाट तो कुछ यमुना किनारा रोड से ही तस्‍वीरें खींचकर अपनी हसरत पूरी कर रहे हैं।

ताजमहल, आगरा किला, फतेहपुरसीकरी, मेहताब बाग, एत्‍माद्दौला पर मंगलवार को सन्‍नाटा पसरा हुआ है। हर जगह ताले और बैरियर पर पुलिस बैठी है। दरअसल सोमवार को ही केंद्र सरकार ने देश के सभी स्‍मारकों को कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते 31 मार्च तक के लिए बंद किए जाने के आदेश कर दिए थे। जो पर्यटक सफर में थे और सोमवार रात या मंगलवार सुबह आगरा पहुंचे, उन्‍हें इस आदेश की जानकारी नहीं थी। सुबह 6:30 बजे के आसपास वे ताजमहल पर पहुंच गए। ताजमहल के प्रवेश द्वार पर लगे ताले और पसरे पड़े सन्‍नाटे को देख अचरज में थे। सुरक्षाकर्मियों ने बंद होने की जानकारी दी। इसके बाद स्‍थानीय लोगों से जानकारी कर पर्यटकों ने उन जगहों काेे तलाशा, जहां से दूर से ही सही पर ताजमहल दिखता है। इसके चलते दशहरा घाट, यमुना किनारा, पूर्वी गेट पहुंचकर फोटो कराए। अब चूंकि ये खबर फैल चुकी है इसलिए बुधवार से पर्यटकों की संख्‍या लगभग शून्‍य ही हो जाएगी। इसका बड़ा असर आगरा के पर्यटन कारोबार पर ही आना है। गाइड, हॉकर्स, एम्‍पोरियम्‍स, होटल्‍स, रेस्‍तरां, ऑटो-टैक्‍सी चालक तक 15 दिन तक बुरी तरह प्रभावित होंगे।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close