Breaking Newsराष्ट्रीय

पूर्वी दिल्ली में हालात आज भी बदतर

पूर्वी दिल्ली में हालात आज भी बदतर

image_pdf

नागरिकता संशोधन कानून और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर के विरोध में दिल्ली के जाफराबाद और करावलनगर में रविवार को हिंसक प्रदर्शन के बाद सोमवार को भी हालात सामान्य नहीं हैं।पूर्वी दिल्ली के मौजपुर चौक पर महज़ 10 से 15 पुलिसकर्मी तैनात है। सोमवार सुबह पुलिस की व्यवस्था पूरी तरह से फेल नज आ रही है, जिसके दिल में जो आ रहा है वह वो कर रहा है। इस बीच एक युवक की पिटाई की भी खबर है।

करावल रोड पर रविवार देर रात हुई हिंसा को देखते हुए हिंसा स्थल के पास रैपिड एक्शन फोर्स को तैनात कर दिया गया है। इस फोर्स में दंगे के समय इस्तेमाल होने वाली मशीनरी को भी तैनात किया गया है, ताकि कोई हिंसा होती हैं तो उस पर काबू पाया जा सके।

रविवार दोपहर करीब तीन बजे यहां से लगभग 500 मीटर दूर भाजपा नेता कपिल मिश्र पार्षद कुसुम तोमर व अन्य समर्थकों के साथ मौजपुर लाल बत्ती पर सीएए के समर्थन में धरने पर बैठ गए। यहां पर जय श्रीराम और देश के गद्दारों को.. जैसे नारे लगने शुरू हो गए। इस दौरान करीब 100 मीटर दूर मौजपुर तिराहे पर कबीर नगर और कर्दमपुरी से लोग जुटने लगे। उन्होंने सीएए के विरोध में आजादी के नारे लगाने शुरू कर दिए। इस बीच कपिल मिश्र के धरने पर पथराव किया गया तो कपिल मिश्र के समर्थन में बाबरपुर- मौजपुर से लोग जुटने लगे। देखते ही देखते दोनों पक्षों में पथराव शुरू हो गया।

कबीर नगर में घरों की छत से लोग पत्थर और कांच की बोतलें फेंकते रहे। स्थिति ऐसी हो गई कि पुलिस की तरफ से लगाए गए बैरिकेड के अलावा डिवाइडर को भी तोड़ दिया गया। पुलिस की मौजूदगी में सीएए समर्थक और विरोधी 100 मीटर की दूरी पर आमने-सामने आधे घंटे तक एक-दूसरे पर पत्थर बरसाते रहे। इसमें जख्मी हो रहे लोगों को पथराव करने वालों ने ही वहां से बाहर निकाला। बाद में पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े।

 

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close