Breaking Newsराष्ट्रीय

उद्धव – कांग्रेस और एनसीपी से बातचीत के बाद सीएए पर लिया स्टैंड

उद्धव - कांग्रेस और एनसीपी से बातचीत के बाद सीएए पर लिया स्टैंड

image_pdf

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को कहा कि नागरिकता कानून किसी की नागरिकता नहीं छीनता है और इससे किसी डरने की जरुरत नहीं। महाराष्ट्र विधानसभा के बजट सत्र की पूर्व संध्या पर संवाददाताओं से बात करते हुए ठाकरे ने कहा- “इन मुद्दों पर मैंने अपने रुख साफ कर दिए हैं और सहयोगी दल कांग्रेस और एनसीपी के साथ भी इस पर बात की है।”

भारतीय जनता पार्टी नेता देवेन्द्र फडणवीस के इस बयान पर कि राज्य सरकार एनपीआर की शब्दावली को नहीं बदल सकती है, ठाकरे ने कहा-“तीनों दलों (शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी) के सीनियर नेता बैठकर इसके राज्य में लागू होने में संभावित कठिनाईयों पर चर्चा कर सकते हैं।”

नागरिकता कानून पर प्रदर्शन के दौरान उत्तर प्रदेश और दिल्ली में हुई भारी हिंसा और आगजनी को लेकर ठाकरे ने बीजेपी पर भी टिप्पणी की। उन्होंने कहा- “बीजेपी शासित राज्यों के मुकाबले महाराष्ट्र में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन शांतिपूर्ण रहा। दिल्ली में जेएनयू छात्रों पर हमला किसी ‘आतंकी हमले’ से कम नहीं था।”

हालांकि, एपीआर का समर्थन करने के कुछ ही दिन बाद ठाकरे ने तीनों सत्ताधारी दलों के सदस्यों की तरफ से उच्चस्तरीय समिति का ऐलान किया है जो राज्य में इसके लागू होने से पहले उसका अध्ययन करेगी।

 

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close