Breaking Newsराष्ट्रीय

पोकरण में गुंजे रावण, मुस्लिम महासभा का मिला साथ

पोकरण में गुंजे रावण, मुस्लिम महासभा का मिला साथ

image_pdf

जैसलमेर – नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ भीम आर्मी सुप्रीमों चन्द्रशेखर आजाद देशभर में दौरे पर है। इस कड़ी में वे कल पश्चिमी राजस्थान के अन्तिम छोर पोकरण पहुंचे। जैसलमेर एयरपोर्ट पहुंचने पर मुस्लिम महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ईमरान खान गाजियाबाद और कैबिनेट मंत्री सालेह मोहम्मद के छोटे भाई इलियास फकिर ने स्वागत किया।

सभा में मुख्य वक्ता भीम आर्मी सुप्रीमों चन्द्रशेखर आजाद, मुस्लिम महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ईमरान खान गाजियाबाद और मुफ्ती अब्दुल सलाम साहेब थे। मुफ्ती अब्दुल सलाम साहेब ने अपने संबोधन में कहा कि आज जो सरकार सत्ता में है इनका एकमात्र मकसद हिंदू मुसलमान के नाम पर देश को तोडना है। उन्होंने कहा कि बीजेपी के लोग हमेशा बांटने की ही बात करते है। उन्होंने भीम आर्मी सुप्रीमों चन्द्रशेखर आजाद और मुस्लिम महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ईमरान खान गाजियाबाद द्वारा मुस्लिम दलित एकता की मुहिम का दिल से  स्वागत किया एवं कहा कि दोनों वर्ग आजादी के बाद भी मनुवादी लोगों द्वारा प्रताड़ित किए जा रहे है लेकिन दलित मुस्लिम एकता एक दिन मनुवादियों को उखाड़ फेंकेगी।

आक्रोश महासभा को संबोधित करते हुए मुस्लिम महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ईमरान खान गाजियाबाद ने कहा कि मान्यवर काशीराम के कदमों पर चलते हुए भीम आर्मी सुप्रीमों चन्द्रशेखर आजाद ने बहुजन वर्ग की एकता के लिए कई बलिदान दिए है।नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ चल रहे मुहिम हो या फिर आरक्षण बचाओ मुहिम हो, संविधान बचाने की इस दौर की मुहिम में भीम आर्मी सुप्रीमों चन्द्रशेखर आजाद एक महानायक बनके उभरे है। दलित, मुस्लिम, पिछड़े, आदिवासी एवं अल्पसंख्यक वर्ग की रक्षा सिर्फ संविधान करता है जिसे मनुवादी सरकार खत्म कर मनुस्मृति लागू करना चाहती है। लेकिन इस देश का मूलनिवासी आज जाग चुका है और इस मनुवादी सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए दृढ़ संकल्पित है। उन्होंने कहा कि  चन्द्रशेखर आजाद का  जहां पसीना बहेगा, मुस्लिम महासभा वहां अपना खुन बहाने के लिए तैयार है।

उन्होंने कहा कि मुझे खुशी है आज दलित और मुस्लिम जाग रहा है और एक दिन दलित मुस्लिम एकता मनुवादी सरकार के ताबूत में आखिर किल ठोकेगी। आज हमारे अधिकारों की लडाई है। आज बाबा साहेब द्वारा दिए गए संविधान को बचाने की लडाई है। आज सत्य की लडाई है। आज जुल्म के खिलाफ लडाई है। और एक दिन जोर जुल्म का हिसाब होगा, और मनुवादी लोगों को सूद समेत हिसाब देना होगा।

आक्रोश महासभा के मुख्य वक्ता भीम आर्मी सुप्रीमों चन्द्रशेखर आजाद ने कहा कि इस मनुवादी सरकार ने संविधान को तोड़ने की कसम खा रखी है लेकिन हमनें भी कसम खा रखी है कि हमें हर हाल में संविधान को बचाना है और मनुवादियों को उखाड़ फेंकना है। इस देश के संसाधनों पर पहला हक इस देश के मूल निवासियों का है। आज हमारे वोटो से ये मनुवादी लोग सत्ता में है, संविधान से छेड़छाड़ कर रहे है। काले कानून ला रहे है, आरक्षण को दलित-आदिवासियों से छिना जा रहा है लेकिन हम इन्हें कामयाब नहीं होने देंगे। हमारे पूर्वज गोरों से लड़े थे, अग्रजों को  उखाड़ फेंका था, हम अग्रंजों के दलालों से लड रहे हैं और एक दिन इन मनुवादी लोगों को उखाड़ फेंकेगे।उन्होंने कहा कि बीजेपी के लोग समझते है कि हम सत्ता में है, कुछ भी कर सकते है लेकिन उनको पहला जुत्ता दिल्ली विधानसभा चुनावों में पड़ चुका है। जल्द ही यूपी विधानसभा चुनावों में इनका सफाया हो जाएगा। उन्होंने कहा कि आज देश के मूल निवासियों के लिए सही और गलत को पहचानने का समय है। आज जो लोग हमारे साथ नहीं है वे मनुवादी विचारधारा से ग्रसित है। ये लोग मूलनिवासियों के अधिकार छिनना चाहते है। ये लोग संविधान को खत्म कर मनुस्मृति लागू करना चाहते है। हमें इन लोगों से सावधान रहने की जरूरत है। हम संविधान को बचाने के लिए हर कुर्बानी देने को तैयार है। जब तक ये काला कानून वापिस नहीं होगा, हम चैन से नहीं बैठेंगे।

उन्होंने कहा कि आज हमारे 27 भाई इस लडाई में शहीद हो चुके है। हम अपने भाइयों की शहादत को बेकार नहीं जाने देंगे। इस देश में मूलनिवासियों का राज कायम करने के लिए और मनुवादियों को उखाड़ फेंकने के लिए हम दृढ़संकल्पित है।चन्द्रशेखर ‘रावण’ ने अपने भाषण की शुरुआत शाहीन बाग की माताओं और बहिनों और जामिया यूनिवर्सिटी, अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी, जेएनयू के तमाम छात्र जो इस काले कानून के खिलाफ दो महीने से डटे हुए है को सलाम पेश कर की।

सभा में मुस्लिम महासभा और भीम आर्मी के हजारों कार्यकर्त्ता उपस्थित रहे। भीम आर्मी सुप्रीमों चन्द्रशेखर आजाद ने मुस्लिम महासभा और भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं को कंधे से कंधा मिलाकर चलने का आह्वान किया।

कार्यक्रम के अन्त में मुस्लिम महासभा राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष पप्पू खिलजी पोकरण ने सभी का आभार व्यक्त किया।

भीम आर्मी सुप्रीमों चन्द्रशेखर आजाद और मुस्लिम महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ईमरान खान गाजियाबाद के मध्य तय हुआ कि राजस्थान में दस बड़ी जन आक्रोश महासभा आयोजित होगी। अगली आक्रोश महासभा अजमेर में आयोजित होगी जिसमें पांच लाख लोग शिरकत करेंगे।मुस्लिम महासभा राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष पप्पू खिलजी पोकरण को इन सभी आक्रोश सभाओं की रूपरेखा बनाने के लिए अधिकृत किया गया

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close