Breaking Newsराष्ट्रीय

दिल्ली चुनाव: केजरीवाल के सामने फिसड्डी साबित हुए नीतीश-तेजस्वी

दिल्ली चुनाव: केजरीवाल के सामने फिसड्डी साबित हुए नीतीश-तेजस्वी

image_pdf

दिल्ली में आम आदमी की प्रचंड जीत की आंधी में बिहार की तीन सबसे महत्वपूर्ण क्षेत्रीय पार्टियां बह गई हैं. JDU, LJP और RJD को सभी सीटों पर हार का सामना करना पड़ा है. यूं तो JDU और RJD पहले भी दिल्ली में चुनाव लड़ती रही हैं लेकिन ये पहला मौका था जब BJP और कांग्रेस जैसी राष्ट्रीय स्तर की पार्टियों ने बिहार के क्षेत्रीय दलों के साथ मिलकर दिल्ली का चुनाव लड़ा.

इनका मकसद दिल्ली में रहने वाले बिहारी और पूर्वांचली वोटरों को साधना और आगामी बिहार विधानसभा चुनाव तक अपना गठबंधन मजबूत बनाकर रखना था. हालांकि दिल्ली की चुनावी लड़ाई में बिहार की किसी भी पार्टी को जीत नसीब नहीं हुई है. BJP के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ी JDU और LJP ने तो किसी तरह अपनी इज्जत बचाई लेकिन कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव लड़ी RJD चारों खाने चित हो गई है

इन पार्टियों के उम्मीदवारों को मिले वोटों की बात करें तो उत्तम नगर से RJD प्रत्याशी शक्ति कुमार बिश्नोई को कुल 377 वोट मिले हैं जो कि इस सीट पर NOTA को मिले वोट (838) का आधा भी नहीं है. पालम से RJD उम्मीदवार निर्मल कुमार सिंह को 552 वोट मिले हैं और यहां भी ये NOTA से पिछड़ गए हैं. किराड़ी से RJD ने मोहम्मद रियाजुद्दीन खान को मैदान में उतारा था जिन्हें मात्र 256 वोट नसीब हुए जो NOTA को मिले वोटों का एक-चौथाई भी नहीं है.

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close