Breaking Newsराष्ट्रीय

पाकिस्तानी और बांग्लादेशी मुस्लिमों को देश से बाहर निकाल देना चाहिए

पाकिस्तानी और बांग्लादेशी मुस्लिमों को देश से बाहर निकाल देना चाहिए

image_pdf

शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में लिखा है कि पाकिस्तान और बांग्लादेश के मुस्लिमों को देश से बाहर निकाल देना चाहिए। इसे लेकर कोई संदेह नहीं है। इसके लिए राजनीतिक दल को झंडा बदलना पड़े ये मजेदार है। इसके लिए दो झंडे की योजना बनना दुविधा का कारण है। सामना में यह बात राज ठाकरे पर निशाना साधते हुए कही गई है।

गौरतलब है कि पिछले दिनों राज ठाकरे की पार्टी ‘महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना’ ने अपनी पार्टी का झंडा बदल दिया। उन्होंने हिंदुत्व के राह पर चलने के संकेत दिए हैं। इसे लेकर शिवसेना ने सामना में कहा है कि 14 साल पहले राज ठाकरे की पार्टी मराठी मुद्दे पर बनी और आज हिंदुत्व पर जाती दिख रही है। इसे रास्ता बदलना नहीं कहेंगे तो क्या कहेंगे।

सामना में कहा गया है कि मराठियों के लिए शिवसेना ने बहुत काम किया है इसलिए राज ठाकरे के हाथ कुछ नहीं लगा और ना लगेगा। ऐसा लग रहा है वह भाजपा के साथ जाना चाहते हैं, पर यहां भी उनके हाथ लगेगा इसके आसार काफी कम है। शिवसेना ने देशभर में प्रखर हिंदुत्व को जागरुकता फैलाने के साथ बड़ा काम किया है। सबसे बड़ी बात ये है कि शिवसेना ने भगवा रंग कभी नहीं छोड़ा। यह ऐसा ही रहेगा। इस वजह से नए झंडे के बाद भी राज ठाकरे को समर्थन मिलेगा, इसकी संभावना नहीं दिख रही है।

सामना में आगे कहा गया कि कुछ हफ्ते पहले यही राज ठाकरे नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ थे, और अब सिर्फ वोटों के लिए, वह रंग बदल रहे हैं। यह स्पष्ट है कि भाजपा राजनीतिक लाभ प्राप्त करना चाहती है। सीएए से न केवल मुस्लिम बल्कि 30 से 40 प्रतिशत हिंदू प्रभावित होंगे। सीएए और एनआरसी पर सरकार के प्रयासों पर पूर्ण समर्थन करते हुए, राज ठाकरे ने कहा कि उनकी पार्टी सीएए और एनआरसी का विरोध करने वालों के विरोध में मुंबई में 9 फरवरी को एक बड़ा मोर्चा निकालेगी।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close