Breaking Newsराष्ट्रीय

AAP विधायकों को सता रहा टिकट कटने का डर

AAP विधायकों को सता रहा टिकट कटने का डर

image_pdf

सियासत में उगते सूरज को सभी सलाम करते हैं, ऐसे में आप का कुनबा लगातार बढ़ता जा रहा है। लेकिन, इससे पार्टी के अपनों को ही डर सताने लगा है। किसी को अपना कद घटने का डर है तो किसी के माथे पर टिकट कटने की चिंता दिखाई देने लगी है। हालांकि, कोई भी विधायक फिलहाल इस बारे में कुछ भी बोल नहीं रहा है।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल यह साफ तौर पर कह चुके हैं कि जिन विधायकों की छवि ठीक नहीं है और जिनका जनता विरोध कर रही है। उनके टिकट काटे जाएंगे, लेकिन स्पष्ट तौर पर किसी को संकेत नहीं दिया है। केजरीवाल ने सभी विधायकों से तीन माह पहले ही कह दिया था कि अपने-अपने इलाके में जी जान से जुट जाएं। इस बार पार्टी को सभी 70 सीटों पर जीत हासिल करनी है। इस बीच दूसरे दलों से आ रहे मजबूत नेता विधायक का तनाव बढ़ा रहे हैं।

सोमवार को बदरपुर सीट से दो बार चुनाव जीते कांग्रेस के रामसिंह नेताजी आप में शामिल हो गए। इसी तरह द्वारका क्षेत्र में मजबूत जनाधार रखने वाले पूर्व सांसद महाबल मिश्र के बेटे विनय मिश्र आप में शामिल हो गए हैं। विनय एक बार कांग्रेस की टिकट से चुनाव लड़ चुके हैं।

वहीं पार्टी से जुड़े सूत्र बताते हैं कि विनय मिश्र पालम या द्वारका से चुनाव लड़ सकते हैं। द्वारका और पालम दोनों सीटें आप के पास हैं। द्वारका से आदर्श शास्त्री और पालम सीट से भावना गौड़ विधायक हैं। विनय मिश्र के पार्टी में आने से ये दोनों विधायक तनाव में हैं।  दरअसल पूर्व में द्वारका सीट पर महाबल का दबदबा रहा है। इसलिए इस सीट से ही उनके चुनाव लड़ने की अधिक संभावना है। चर्चा है कि महाबल मिश्र भी आने वाले कुछ दिनों में आप में शामिल हो सकते हैं।

इसी तरह कुछ दिन पहले मटिया महल से पांच बार विधायक रहे शोएब इकबाल अपने बेटे और रिश्तेदारों के साथ पार्टी में शामिल हो चुके हैं। यहां से आसिम अहमद आप के विधायक हैं। कुछ माह पहले गोकुलपुर सीट से बसपा की टिकट से विधायक रहे सुरेंद्र कुमार भी आप में शामिल हो

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close