Breaking Newsराष्ट्रीय

जनरल बिपिन रावत (पहले) चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ

जनरल बिपिन रावत (पहले) चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ

image_pdf

जनरल बिपिन रावत बुधवार (1 जनवरी) को देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) के तौर पर कार्यभार संभालेंगे। मंगलवार को सेना प्रमुख के पद से रिटायरमेंट से पहले वे नेशनल वॉर मेमोरियल पहुंचे और शहीदों को श्रद्धांजलि दी। आज लेफ्टिनेंट जनरल मनोज मुकुंद नरवणे उनकी जगह 28वें सेना प्रमुख का पदभार संभालेंगे। जनरल रावत ने कहा है कि सेना प्रमुख का काम कठिन होता है, कुछ काम अधूरे रह जाते हैं, नई जिम्मेदारी लेने के बाद योजनाएं बनाऊंगा। जनरल रावत ने बतौर सेना प्रमुख आखिरी बार परेड की सलामी ली।

उन्होंने कहा कि नॉर्दर्न, ईस्टर्न, वेस्टर्न और बर्फीले इलाकों में मोर्चे पर तैनात जवानों को शुभकामनाएं देता हूं। जो जान की परवाह किए बिना देश की सेवा में लगे हैं। वे अपने परिवार को छोड़कर सीमा पर तैनात रहते हैं। मुझे विश्वास है कि नरवणे अपनी ड्यूटी को बखूबी निभाएंगे। आज खास मौका है। पिछले तीन सालों में मुझे सहयोग देने वाले सभी लोगों को धन्यवाद देता हूं। उनके कारण ही सफलतापूर्वक कार्यकाल पूरा कर पाया।

जनरल रावत ने कहा कि भारतीय सेना में चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ एक पद है। इसको अपने कर्तव्य पालन में जवानों द्वारा सहयोग मिलता है। जिस टीम वर्क से सेना काम करती है, उसी से हमें सफलता मिलती है। विपिन रावत सिर्फ एक नाम है। मैं अकेला कुछ नहीं कर सकता था। सोच तो हमेशा बड़ी होती है, लेकिन कुछ काम अधूरे रह जाते हैं। आगे के अधिकारी इन्हें आगे ले जाते हैं और यह उनकी जिम्मेदारी भी होती है। अब मुझे दूसरी जिम्मेदारी दी गई है। मैं उसके अनुसार ही नई योजनाएं बनाऊंगा।

 

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close