Breaking Newsअंतर्राष्ट्रीयराष्ट्रीय

अमेरिका के जवाब से मायूस हुआ पाक

अमेरिका के जवाब से मायूस हुआ पाक

image_pdf

भारत के नागरिक बिल पर अमेरिका ने कोई सीधी प्रतिक्रिया देने के बजाए कहा है कि यह भारत का आंतरिक मामला है। अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने कहा कि इस कानून के चलते उपजे तनाव पर सभी राजनीतिक दलों को मिलकर समाधान खोजना चाहिए। अमेरिका ने कहा है कि वह भारतीय लोकतंत्र का सम्‍मान करता है।

अमेरिकी राजनयिक ने कहा है कि नागरिकता और धार्मिक स्‍वतंत्रता जैसे मुद्दों पर देश (भारत) के अंदर एक मजबूत बहस चल रही है। अमेरिका के इस जवाब से भारत के पड़ोसी मुल्‍क पाकिस्‍तान जरूर मायूस हुआ होगा। पाकिस्‍तान, भारत पर लगातार एक समुदाय के उत्‍पीड़न पर आरोप लगाता रहा है। अमेरिका का यह बयान ऐसे समय आया है, ज‍ब भारत और अमेरिका के बीच मंत्री स्तरीय बातचीत चल रही है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह एवं विदेश मंत्री जयशंकर इस समय अमेरिका में है।

मंगलवार को पाकिस्‍तान के कहने पर चीन ने कश्‍मीर में अल्‍पसंख्‍यक के अधिकारों के मुद्दे पर संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद में उठाने को लेकर पहल की थी। हालांकि, रूस और ब्रिटेन ने इस प्रस्‍ताव पर सहमति नहीं दी थी। इसके चलते यह प्रस्‍ताव अधर में लटक गया। इसके बाद नागरिक कानून पर अमेरिका के इस प्रतिक्रिया से पाकिस्‍तान जरूर मायूस हुआ होगा।

भारतीय विदेश मंत्री ने कहा कि दरअसल, यह कानून किसी समुदाय की धार्मिक आजादी का हरण नहीं करता वरन यह एक उपाय है, जिसके जरिए कुछ देशों में सताए जा रहे धार्मिक अल्‍पसंख्‍यकों की जरूरतों को पूरा करता है। इसके जरिए वह आसानी से देश के नागरिक बन सकते हैं। उसके लिए कानूनी बाधा को समाप्‍त किया गया है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close