Breaking Newsउत्तर प्रदेशराष्ट्रीयहमारा गाजियाबाद

यति नरसिंहानंद का माफीनामा

पृथ्वीराज ने राजपूतों को मारा, मुहम्मद गौरी को छोड़ता रहा, क्षत्रिय समाज ने किया विरोध

गाजियाबाद : डासना देवी मंदिर परिसर में बैठे यति नरसिंहानंद गिरि ने पृथ्वीराज चौहान को लेकर माफीनामा जारी किया है। पृथ्वीराज चौहान पर विवादित टिप्पणी करने के बाद निशाने पर आए श्री पंच दशनाम जूना अखाड़ा के महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद गिरि ने माफी मांग ली है। उन्होंने स्पष्ट रूप से ये भी कहा है कि आज के बाद वो श्रीराम और श्रीकृष्ण को छोड़कर क्षत्रिय समाज के किसी भी प्रसंग का जिक्र तक नहीं करेंगे।

तब कहा था- पृथ्वीराज ने सिर्फ राजपूतों को मारा, मुहम्मद गौरी को नहीं
पिछले दिनों कुछ ऑनलाइन सवालों का जवाब देते हुए गाजियाबाद में डासना देवी मंदिर के पीठाधीश्वर यति नरसिंहानंद गिरि ने कहा था- ‘मैं जयचंद की दोस्ती को चुनूंगा। पृथ्वीराज चौहान ने गद्दारी की है। जयचंद की कोई गलती नहीं है। पृथ्वीराज चौहान ने अपने सारे राजपूतों को मार दिया था। मुहम्मद गौरी को नहीं मारा, उसे बार-बार छोड़ता रहा।’

यति नरसिंहानंद ने इसके अलावा भी पृथ्वीराज चौहान को लेकर तमाम विवादित टिप्पणियां की। आखिरकार 8 नवंबर को गाजियाबाद की मसूरी थाना पुलिस ने यति नरसिंहानंद गिरि के खिलाफ एक FIR दर्ज कर ली।

यति बोले- मैंने जो तथ्य रखे हों, वो अज्ञानता के कारण हों
सोमवार को यति नरसिंहानंद ने डासना देवी मंदिर परिसर में बैठकर अपना वीडियो बयान जारी किया। उन्होंने कहा, ‘अभी मेरी एक वीडियो मोहम्मद जुबैर ने वायरल की। ये वीडियो बहुत ज्यादा एडिट करके वायरल की गई। हो सकता है कि मैंने उसमें जो तथ्य रखे हों, वो मेरी अज्ञानता के कारण रखे गए हों। इसके लिए मैं संपूर्ण राजपूत समाज से कई बार माफी मांग चुका हूं और आज भी मांगता हूं। कुछ राजपूतों के लड़के आज मेरे पास आए थे।

मैंने उनसे कहा कि माफी चाहता हूं, गलती हो गई। हालांकि वो किसी दूसरी इच्छा को लेकर आए थे। आखिर में वो योगी आदित्यनाथ महाराज की धमकी देने पर आ गए। ये बड़े दुख की बात है कि आज जातिवाद हम पर हावी हो चुका है। धर्म के लिए लड़ रहे सन्यासी को जातिवाद पर लाकर माफी मांगते सन्यासी को मारना या लड़ना चाहते हैं। ये सारी घटना थानेदार के सामने हुई। मुझे नहीं पता कि इसके पीछे कौन सी ताकत है।

Show More

Related Articles

Close