Breaking Newsउत्तर प्रदेशराष्ट्रीयहमारा गाजियाबाद

तूफान नष्ट करने के लिए नहीं वरन ऊंचाइयों पर उड़ने का देते हैं अवसर डॉ नरेश त्रेहन

 

गाजियाबाद। भारत के श्रेठतम प्रबंधन संस्थानों में एक आईएमटी ने दो सालों के बाद अपने परिसर में दो दिवसीय सालाना दीक्षान्त समारोह का आयोजन किया। कार्यक्रम के पहले दिन मेदांता- दी मेडिसिटी के चेयरमैन एवं मैनेजिंग डायरेक्टर तथा जाने-माने कार्डियोवैस्कुलर एवं कार्डियोथोरेसिक सर्जन, डॉ नरेश त्रेहन मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद थे। विक्रम एस किरलोस्कर, चेयरमैन एवं प्रबन्ध निदेशक, किरलोस्कर सिस्टम्स प्रा. लिमिटेड तथा वाईस चेयरमैन, टोयोटा किरलोस्कर मोटर प्रा. लिमिटेड दूसरे दिन मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद रहे। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं आईएमटी गाज़ियाबाद के चीफ़ मेंटर कमल नाथ ने वर्चुअल रूप से छात्रों को सम्बोधित किया।

भव्य दीक्षांत समारोह के दौरान पीजीडीएम बैच 2018-2020; 2019-2021; 2020-2022, पीजीडीएमपीटी बैच 2016-2019; 2017-2020; 2018-2021, 2019-2022 तथा पीजीडीएम एक्स बैच 2018-2020, 2019-2021, 2020-2022 से 1000 से अधिक छात्रों को परिसर में सम्मानित किया गया। दो दिवसीय आयोजन के दौरान संस्थान ने बैच 2020, 2021 और 2022 से विजेताओं को 18 स्वर्ण पदक और 18 रजत पदक दिए।
मेदांता के चेयरमैन एवं मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ नरेश त्रेहन ने अपने शब्दों के साथ छात्रों का उत्साह बढ़ाया। उन्होनें छात्रों को प्रेरक कहानी सुनाकर अपने जीवन का मंत्र साझा किया। उन्होंने कहा ‘‘तूफ़ान आपको नष्ट करने के लिए नहीं आते, बल्कि आपको और ज़्यादा उंचाईयों तक उड़ने का अवसर देते हैं।
विक्रम एस किरलोस्कर ने कहा आज के दौर में कारोबार के विभिन्न पहलुओं पर बात करते हुए कहा कि उभरते मैनेजरों को कारोबार के सभी पहलुओं को समझना चाहिए। खासतौर पर भारत को सुपरपावर बनाने के लिए यह विशेषता बहुत ज़रूरी है। उन्होंने युवा स्नातकों से कहा कि एक बेहतर कल के निर्माण के लिए जलवायु परिवर्तन के संकट पर काम करें।
कमल नाथ, प्रेज़ीडेन्ट एवं चीफ़ मेंटर, आईएमटी ने ‘‘छात्रों को अपने जीवन में सहानुभूति, प्रत्यास्थता और दृढ़ इरादे जैसे मूल्यों को अपनाना चाहिए।

Show More

Related Articles

Close