Breaking Newsउत्तर प्रदेशराष्ट्रीयहमारा गाजियाबाद

केमिकल के पानी से हरियाली विलुप्त

देश की राजधानी के प्रवेश द्वार साहिबाबाद रेलवे स्टेशन पर नई दिल्ली और पुरानी दिल्ली रेल लाइन के मध्य सदियों से सैकड़ों बीघा भूमि में हजारों की संख्या में जंगली बबूल के वृक्ष अपनी हरियाली से यात्रियों को आकर्षित कर रहे थे। लेकिन करीब 2 वर्ष पूर्व रातों-रात आसपास कि किसी औद्योगिक इकाई से गुलाबी रंग का रासायनिक पानी आया और 15 दिन के अंदर हजारों वृक्ष सूख गए। यह रेलवे की जमीन है, सब कुछ साहिबाबाद रेलवे स्टेशन अधिकारियों की नाक के नीचे होता रहा। इस जमीन के दोनों तरफ रेलवे लाइन है लगता है यह पानी रातों-रात रेल लाइन के नीचे से यहां तक पहुंचाया गया है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और राष्ट्रीय हरित अभिकरण साहिबाबाद से बहुत अधिक दूर नहीं हैं लेकिन पर्यावरण की इस दुर्दशा पर सब मौन साधे हुए। आसपास कि किसी प्रदूषित औद्योगिक इकाई का पानी यहां तक कैसे पहुंचा यह एक जांच का विषय है।

Show More

Related Articles

Close