Breaking Newsउत्तर प्रदेशराष्ट्रीयहमारा गाजियाबाद

लोनी में पुलिस चौकी पर पथराव व तोड़फोड़

पुलिस ने 53 लोगों के खिलाफ दर्ज की रिपोर्ट, आठ नामजद

गाजियाबाद। लोनी बॉर्डर थाना क्षेत्र की सेवाधाम पुलिस चौकी के बाहर धरना प्रदर्शन कर रहे लोगों द्वारा पुलिस चौकी पर पथराव करने और पुलिसकर्मियों से मारपीट करने के आरोप में 53 लोगों के ख़िलाफ़ मुकदमा दर्ज कराया गया है। इनमें से आठ लोग नामजद है जबकि 45 अज्ञात बताए गए हैं।
लोनी बॉर्डर थाना क्षेत्र की सेवाधाम पुलिस चौकी के सामने मारपीट के मामले में कार्रवाई की मांग को लेकर कुछ लोगों ने धरना दिया था। आरोप है कि मोनू शर्मा और उनके समर्थकों ने देर रात पुलिस चौकी में अंदर घुस कर तोड़फोड़ करनी शुरू कर दी पुलिस वालों द्वारा विरोध किए जाने पर दो पुलिसकर्मियों के साथ मारपीट भी की और पुलिस चौकी पर पथराव किया।
बाद में तीन थानों की पुलिस ने पहुंचकर लोगों को खदेड़ा। इस मामले में लोनी बॉर्डर थाना प्रभारी योगेंद्र सिंह पवार ने मुकदमा दर्ज कराया है। थाना प्रभारी योगेंद्र पंवार ने बताया कि मोनू शर्मा, हिमांशु शर्मा, जीतू शर्मा, दीपा, मोनू का भाई, कैलाश मिश्रा और एक अन्य किया गया है। पुलिस ने मोनू शर्मा और उनके कुछ समर्थकों को हिरासत में ले लिया है।पुलिस के साथ आम लोगों का टकराव लगातार बढ़ रहा है। तीन दिन पूर्व नासिकपुर फाटक स्थित पुलिस चौकी पर भाजपा के एक नेता के साथ हेलमेट पहनने को लेकर हुए विवाद के बाद न केवल चौकी पर हंगामा किया गया बल्कि चौकी प्रभारी को लाइन हाजिर करने के लिए मजबूर किया गया। इस विवाद में सिहानी गेट थाना प्रभारी भी हटाए गए हैं। पुलिस का कहना था कि हेलमेट ने लगाए जाने के कारण उक्त भाजपा नेता को रोका गया था जिन्होंने इसे अपना अपमान माना और साथियों को बुलाकर पुलिस चौकी का घेराव करा दिया।पुलिसकर्मियों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि यदि इसी तरह पुलिस के काम में दखल दिया गया तो पुलिस किस तरह अपना काम कर पाएगी। पुलिस के ऊपर एक तरफ अधिकारियों का दबाव रहता है दूसरी तरफ सत्तारूढ़ या उनसे जुड़े लोग अनावश्यक दबाव बनाकर पुलिस को कटघरे में खड़ा कर देते हैं।पुलिस अधिकारियों का कहना है कि कुछ लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया है जिनसे पूछताछ की जा रही है। इसे की गई पूछताछ के बाद लोगों की पहचान की जाएगी और बाकी लोगों को भी हिरासत में लेकर जेल भेजा जाएगा।

Show More

Related Articles

Close