Breaking Newsउत्तर प्रदेशराष्ट्रीयहमारा गाजियाबाद

भाजपा की नजर 2024 पर, बाकी दल हाइबरनेशन पीरियड में

पृथ्वी पर रेंग कर चलने वाले जीव जंतु जिनमें मेंढक भी शामिल है शीत ऋतु में जाड़े से बचाव के लिए पृथ्वी की ऊपरी सतह में छिप जाते हैं जिसे हाइबरनेशन पीरियड अर्थात सुप्त अवस्था कहा जाता है। ऐसी ही स्थिति इस समय देश के राजनीतिक दलों की है। विशेष तौर पर उत्तर प्रदेश में जहां भाजपा ने अपनी नजरें 2024 के लोकसभा चुनाव पर टिका दी हैं वहीं बाकी दल इस वर्ष के अंत में होने वाले निकाय चुनाव को देखने के बावजूद अभी तक सरीसृप जंतुओं की तरह सुप्त अवस्था में नजर आ रहे हैं। इन राजनीतिक दलों की हाइबरनेशन पीरियड की अवस्था बताती है कि यह अंगड़ाई लेकर चुनाव की घोषणा के दौरान खड़े होंगे लेकिन तब तक भाजपा अपना खेल पूरा कर चुकी होगी। भाजपा योजनाबद्ध तरीके से लगातार आगे बढ़ रही है, यही उसकी निरंतर मिलने वाली जीत का भी आधार है। हाल ही में ज्ञानवापी मस्जिद का मुद्दा और उसके साथ उठ रहा कृष्ण जन्मभूमि का मुद्दा एक ऐसी डोज का काम कर रहा है जो निकाय चुनाव से लेकर लोकसभा चुनाव तक न केवल जिंदा रहेगा बल्कि भाजपा के पक्ष में वोटों को लामबंद भी करता रहेगा।

इसके बावजूद भाजपा अभी अपने चरम पर पहुंचने के बाद भी 40 प्रतिशत से अधिक वोट लेने में कामयाब नहीं हो सकी है। विरोधी दल रणनीति के साथ काम करें तो ऐसा नहीं है कि भाजपा का मुकाबला नहीं किया जा सकता। अतीत में भी कांग्रेश जैसी उस समय की शक्तिशाली पार्टी को धूल चटाने में विपक्ष कामयाब रहा था। फर्क इतना था कि उस समय विपक्ष के पास अनेक ऐसे दिग्गज नेता थे जिनके साथ जन सैलाब खड़ा हो जाता था। आज पूरा विपक्ष धराशायी है और उसके अंदर इस अवस्था से खड़े होने का मनोबल भी दिखाई नहीं देता। मनोबल टूटना ही वह सबसे बड़ा कारण है जिसे विपक्ष की कमर तोड़कर रख दी है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close