Breaking Newsउत्तर प्रदेशराष्ट्रीयहमारा गाजियाबाद

बुलडोजर जेबों से रुपए कर रहा है इधर उधर जीडीए की कार्रवाई पर लोगों ने उठाए प्रश्न चिन्ह

मुरादनगर। कहीं बुलडोजर अपराधियों में खौफ पैदा कर रहा है बिल्डिंग ध्वस्त हो रही हैं अवैध निर्माण हटाए जा रहे हैं लेकिन यहां गाजियाबाद विकास प्राधिकरण का बुलडोजर तोड़ फोड के स्थान पर जेबों से धन निकाल कर दूसरी जेबों में पहुंचाने का काम अधिक कर रहा है। इस खेल को लेकर क्षेत्र के लोगों में चर्चाएं है कि लगभग 15 दिन पूर्व असालतनगर से जलालपुर रोड की जाने वाली सड़क पर जीडीए ने बुलडोजर चलाकर अवैध कालोनियों निर्माणों को ध्वस्त किया था उस रोड पर तोड़फोड़ के कोई निशान बाकी नहीं है ।सभी कालोनियों में तोड़ी गई दीवारें दोबारा चमक दमक के साथ खड़ी हो गई हैं अन्य निर्माण कार्य जो अवैध बताए गए थे वह पूरे बनकर चमचमा रहे हैं। यहां तक की नगर के मुख्य कस्बा रोड पर भी धड़ल्ले से अवैध रूप से निर्माण कार्य चल रहे हैं बिना अनुमति के 10 फुट गहरे बेसमेंट उसके ऊपर 4 मंजिला तक इमारतों का निर्माण हो रहा है वह भी बीच बाजार में ऐसे स्थान पर कि यदि निर्माण कार्य के दौरान थोड़ी सी भी लापरवाही के कारण हादसा हो गया तो बड़ी जन धन हानि हो सकती है क्योंकि वहां आसपास अन्य छोटी व्यापारिक प्रतिष्ठानों के साथ ही हर समय लोगों की भारी संख्या मौजूद रहती है ।लोग सवाल उठा रहे हैं कि जिन निर्माणों को अवैध बताते हुए जीडीए ने वहां बुलडोजर घूमाए थे वहां दोगुनी तेजी गति से निर्माण कार्य कैसे चल रहे हैं। चर्चा है कि बुलडोजर सिर्फ कॉलोनाइजरों तथा अवैध निर्माण करने वालों से धन वसूली के लिए ही क्षेत्र में लाए जाते हैं और लेन-देन की सेटिंग होते ही बुलडोजर वाले उस ओर से अपनी निगाहें फेर लेते हैं और फिर अवैध घोषित की गई कालोनियों में निर्माण कार्य भी निर्बाध होते हैं जिन निर्माणों पर बुलडोजर का कोना मार कर थोड़ा बहुत क्षतिग्रस्त किया जाता है वह भी दोबारा दुरुस्त दिखलाई देता है ।लोगों का सवाल है यदि निर्माण अवैध नहीं थे तो क्यों उन पर बुलडोजर चलाने का नाटक किया गया और अवैध हैं तो कुछ ही दिनों में वहां दोबारा दुगनी गति से निर्माण कार्य कैसे होने लगे। बड़ी कालोनियां बिल्डिंग बनाने वालों से विकास के लिए गठित प्राधिकरण से जुड़े लोग खुद अपना विकास कर रहे हैं इनके बीच कोई अपना छोटा मोटा आशियाना बनाना चाहता है उसका ही निर्माण नहीं होने दिया जाता क्योंकि वह अधिकारियों कर्मचारियों की मनमानी भेंट पूजा नहीं कर पाता। इस बारे जानकारी एकत्र की जिसमें चौंकाने वाली बातें सामने आईं ।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close