Breaking Newsउत्तर प्रदेशराष्ट्रीयहमारा गाजियाबाद

शराब के शौकीन जेई योगेश कुमार को जारी हुआ कारण बताओ नोटिस

नोटिस जारी होते ही दो दिन की छुट्टी पर चले गए योगेश कुमार,सबसे ज्यादा शिकायतें मिलती रही है योगेश कुमार जेई की

गाजियाबाद। कविनगर जोनल कार्यालय परिसर स्थित निर्माण विभाग में तैनात जेई योगेश कुमार और एक ठेकेदार को नशे की हालत में अपर नगरायुक्त ने जनता की शिकायत के पकड़ लिया। जिसको नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर ने कारण बताओ नोटिस जारी कर 7 दिन के भीतर जवाब तलब किया हैं। हैरत की बात तो यह है कि जेई योगेश कुमार विगत छह माह से तबादला होने के बाद भी यही टिका हुआ है। आपको बता दें कि मंगलवार को कविनगर के स्थानीय लोगों ने नगर आयुक्त को फोन कर कार्यालय में देर रात तक शराब पीने और हंगामा करने की सूचना दी थी। जिसके बाद उन्होने अपर नगर आयुक्त शिवपूजन यादव को निरीक्षण करने भेजा। निरीक्षण में पाया गया कि योगेश कुमार कार्यालय में रात 9 बजे अपने कार्यालय में नशे की हालत में मिले। उनके साथ कुछ लोग और भी मौजूद थे जो कि नगर निगम के ठेकेदार बताए गये है। निरीक्षण रिपोर्ट के मुताबिक जब जेई योगेश कुमार से देर रात तक दफ्तर में रुकने का कारण पूछा तो वह कोई भी संतोषजनक जवाब नही दे पाए। शिवपूजन यादव द्वारा निरीक्षण रिपोर्ट के आधार पर नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर ने नोटिस जारी कर जवाब मांगा हैं। जैसे ही नोटिस जारी हुआ वैसे ही वह दो दिन की छुट्टी पर चले गए। इससे पहले भी कई बार योगेश की शिकायत मिलती रही है लेकिन कोई कार्यवाई नही होती। जानकारी के मुताबिक नगर निगम में सबसे अधिक आईजीआरएस पर प्राप्त होने वाली शिकायते योगेश कुमार की ही हैं। बताया जा रहा है कि नगर निगम के जेई पर अपने राजनैतिक आकाओं का आशीर्वाद ही है कि 6 महीने पहले हुए तबादले के बाद भी आज तक रिलीव नही हुआ हैं। उत्तर प्रदेश शासन के द्वारा 6 महीने पहले उसका तबादला देवबंद किया गया था। तबादले के बाद ही गाजियाबाद के जन प्रतिनिधियों ने पत्र लिखकर उसे रिलीव न करने की सिफारिश की थी। योगेश कई सालों से निगम में ही तैनात है और उसका तबादला होने के बाद भी उसका रिलीव न हो पाना कई बड़े सवाल खड़े करता हैं।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close