Breaking Newsउत्तर प्रदेशराष्ट्रीयहमारा गाजियाबाद

आयकर कर्मचारियों ने 18 सूत्रीय मांगों को लेकर की हड़ताल

गाजियाबाद। केन्द्रीय कर्मचारी एवं कामगार परिसंघ के आहवाह्न पर आयकर कर्मचारी महासंघ गाजियाबाद ने भी 18 सूत्रीय मांगों को लेकर हापुड़ चुंगी स्थित कार्यालय पर सोमवार से दो दिवसीय हड़ताल शुरू की। महासंघ के उपाध्यक्ष वेद प्रकाश एवं सचिव शैलेश चंद्र ने बताया कि काफी लंबे समय से संघ की मांगे लंबित चल रही हैं। जिन पर सरकार कोई सकारात्मक कदम नहीं उठा रही है। इन मांगों में मुख्य रूप से स्क्रैप नई अंशदायी पेंशन योजना, पुरानी पेंशन योजना की बहाली, जनवरी 2020 से जून 2021 तक रोके गए डीए, डीआर के एरियर का भुगतान, अनुकंपा नियुक्ति पर लगी रोक हटाने, सभी पात्र मामलों में नियुक्ति प्रदान करना, वर्ष 1993 को याउसके बाद सेवा में शामिल हुए आकस्मिक और संविदा कर्मचारियों को नियमित करना, डीपीसीएस धारण करना और पदोन्न्ति कोटे में रिक्त पदों को भरना, आईटीएफ प्रस्ताव के अनुसार लंबित भर्ती नियमों को अंतिम रूप देना, संशोधन के साथ इंटर चार्ज ट्रांसफर नीति को बहाल करना, विभाग के डाटा एंट्री कार्य की आउटसोर्सिंग को रोकना, पांच लाख से दस लाख प्रति पीआर की सीमा बढ़ाना, प्रमुख चिकित्सा प्रतिपूर्ति के तहत सीसीआईटी, सभी निरीक्षकों और अन्य को लैपटॉप उपलब्ध कराना, नए पदों के सृजन पर रोक व केन्द्र सरकार के विभागों सात लाख रिक्त पदों पर भर्ती सहित 18 मांगें रखीं। केन्द्रीय कर्मचारी एवं कामगार परिसंघ के गाजियाबाद की क्षेत्रीय सचिव रेणु रानी ने कहा कि जब तक सरकार द्वारा कोई सकारात्मक पहल नहीं की जाती तब तक परिसंघ इसी तरह समय-समय पर विरोध प्रदर्शन करती रहेगी। इस हड़ताल में संयुक्त सचिव अंकुर गर्ग, सहायक सचिव बिजेन्द्र सिंह रावत, कोषाध्यक्ष गिरीश कुमार, दिलीप रजावत, केसी शुक्ला आदि मौजूद रहे।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close