Breaking Newsउत्तर प्रदेशराष्ट्रीयहमारा गाजियाबाद

पुलिस की लापरवाही से लोनी तिराहे पर लगने वाले जाम से परेशान हैं लोग

लाखों रुपए का कीमती इंधन हो रहा है जाम में नष्ट


गाजियाबाद। दिल्ली से देहरादून तक बनाए जाने वाले इकोनामिक कॉरिडोर का पहला दरवाजा लोनी कस्बा है जिसकी हालत यह है कि वहां पुलिस की लापरवाही से भयानक जाम की हालत हर समय बनी रहती है जिस में फंस कर लाखों रुपए का कीमती इंधन नष्ट हो रहा है।
गौरतलब है कि केंद्र सरकार दिल्ली से देहरादून तक इकोनामिक कॉरिडोर का निर्माण करा रही है जिसके पूरा होने के बाद दिल्ली से देहरादून का रास्ता केवल डेढ़ घंटे का रह जाएगा। दिल्ली से निकलकर सहारनपुर के रास्ते जैसे ही आप उत्तर प्रदेश में प्रवेश करेंगे वहां पहला शहर लोनी आता है। लोनी ऐसा कस्बा है जिसमें सैकड़ों कालोनियां बिना किसी नियोजित ढंग के बस गई है। परिणाम यह है कि सड़कें और आधारभूत ढांचा लोनी की आबादी के अनुरूप नहीं है। बढ़ती आबादी को देखते हुए यहां लोनी कोतवाली के अलावा तीन अन्य थानों का निर्माण किया गया था। इसके बावजूद लोनी की स्थिति में कोई सुधार नहीं है। यहां लोनी तिराहे पर हर समय भयानक जाम की स्थिति बनी रहती है जिसमें कई बार लोगों को घंटों तक फंसे रहना पड़ता है।
जाम के कारण लोगों का न केवल कीमती समय नष्ट होता है बल्कि कीमती ईंधन भी नष्ट होता रहता है। यह सब पुलिस की सुस्ती भ्रष्टाचार और रिश्वतखोरी के कारण हो रहा है। जाम खोलने के पुलिस के सभी इंतजाम यहां विफल साबित हो रहे हैं।
जाम में फंसे लोगों का कहना है कि जाम लगने का सबसे बड़ा कारण ऑडी 3G खड़ी कारें और लोगों में आगे निकलने की चेष्टा होती है। पुलिसकर्मी यदि शुरू में ही प्रयास कर जाम खत्म करने की कोशिश करें तो लोगों का कीमती समय और ईंधन नष्ट नहीं होगा।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close