Breaking Newsउत्तर प्रदेशराष्ट्रीयहमारा गाजियाबाद

धौलाना विधानसभा में ये रिश्ता क्या कहलाता है

धौलाना विधानसभा से बसपा प्रत्याशी और भाजपा प्रत्याशी का फोटो वायरल

हालांकि फोटो को पुराना बताया जा रहा है

दोनों प्रत्याशियों के एक साथ फोटो को वायरल होने से क्षेत्र में चर्चा का बाजार गर्म

गाजियाबाद। विधानसभा चुनाव 2022 में जहां तमाम राजनीतिक पार्टी एक दूसरे की प्रतिद्वंदी के तौर पर चुनाव मैदान में खड़ी दिखाई दे रही है, तो वहीं राजनीतिक पार्टियों के प्रत्याशी भी एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगातार लगा रहे हैं। इसी कड़ी में सोशल मीडिया पर दो फोटो जबरदस्त वायरल हो रहे हैं। जिनमें भाजपा प्रत्याशी धर्मेश तोमर और बसपा प्रत्याशी बासित प्रधान का एक साथ फोटो चर्चाओं को नया रूप दे रहा है। हालांकि सोशल मीडिया पर यह फोटो वायरल होने से एक नया रिश्ता भी देखने को सामने आ रहा है, यानी यह रिश्ता क्या कहला रहा है।

गौरतलब है कि धौलाना विधानसभा क्षेत्र से गठबंधन से जहां असलम चौधरी चुनावी मैदान में ताल ठोक रहे हैं, तो वही ए आई एम आई एम पार्टी से हाजी आरिफ ने भी ताल ठोक रखी है। इसी कड़ी में बसपा ने जहां बासित प्रधान को टिकट देकर चुनाव मैदान में उतारा है, तो भाजपा की तरफ से पूर्व सपा विधायक रहे धर्मेश तोमर चुनावी मैदान में अपनी नैया पार लगाने के तमाम तरह के प्रयास कर रहे हैं । इसी बीच कांग्रेस ने जहां अरविंद शर्मा को चुनावी नैया में पार लगाने के उद्देश्य से प्रत्याशी घोषित किया है तो आम आदमी पार्टी ने भी सीएम चौहान को अपना उम्मीदवार बनाकर चुनाव को रोचक बनाने का कार्य किया। इसी बीच तमाम राजनीतिक पार्टियों के समर्थकों द्वारा एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। जहां एक तरफ नंदकिशोर गुर्जर के साथ असलम चौधरी का एक फोटो वायरल हुआ तो वहीं दूसरी तरफ बसपा के प्रत्याशी बासित प्रधान और भाजपा प्रत्याशी धर्मेश तोमर का एक साथ फोटो जबरदस्त वायरल होने से क्षेत्र में चर्चाओं का बाजार काफी गर्म दिखाई दे रहा है।

सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि दोनों जैसे ही फोटो वायरल हुए तो लोगों ने इसे यह रिश्ता क्या कहलाता है की संज्ञा देनी शुरू कर दी। लिहाजा दोनों ही फोटो को पूर्व के बताए जा रहे हैं, मगर चुनावी दौर में पूर्व फोटो को वायरल होने से कहीं ना कहीं बसपा प्रत्याशी के खिलाफ भी माहौल बनना शुरू हो रहा है। सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि बासित प्रधान का यह फोटो वायरल होने से अब मुस्लिम तबके का जो वोट बैंक बसपा के साथ है वह खिसकने के आसार में दिखाई दे रहा है । क्योंकि फोटो को जबरदस्त राजनीतिक पार्टी के लोग वायरल कर रहे हैं । जब इस मामले में बसपा प्रत्याशी वासित प्रधान से बात की गई तो उन्होंने कहा कि यह फोटो 2012 का फोटो है। मगर अब फोटो वायरल होने से विपक्षी पार्टी के राजनीतिक लोग मुझे बदनाम करने का कार्य कर रहे हैं। मगर जनता सब जानती है। इस बार बसपा का विधायक जीत कर रहेगा, यानी उन्होंने इन फोटो को एक सिरे से खारिज कर दिया । मगर क्षेत्र में चर्चाओं के बाजार लगातार गर्म होता दिखाई दे रहा है, और जो बसपा से मुस्लिम वोट बैंक जुड़ा हुआ है। वह अब खिसकता हुआ इन फोटो के वायरल होने से नजर आने लगा है, यानी कि बसपा के प्रत्याशी की नैया इन फोटो के वायरल होने से डूबने की कगार पर पहुंच गई है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close