Breaking Newsउत्तर प्रदेशमुरादनगरराष्ट्रीय

बसपा टिकट के लिए जिससे रुपए लिए उसे टिकट नहीं आत्मदाह की चेतावनी

 

मुरादनगर। बसपा के वरिष्ठ नेता ने दी चेतावनी टिकट के लिए रुपए वापस करो अन्यथा पूरे परिवार के साथ आत्मदाह करने के लिए विवश होंगे । रुपए किसी और से लिए हुए थे टिकट किसी और को दे दिया । पूर्व सभासद वरिष्ठ बसपा नेता ताज चौधरी ने पार्टी सुप्रीमो मायावती तथा उच्च प्रशासनिक अधिकारियों को इस विषय में पत्र लिखते हुए पार्टी का टिकट दिलाने के नाम पर 25 लाख रुपए ठगी का आरोप लगाया है। बहुजन समाज पार्टी से मुरादनगर विधानसभा क्षेत्र से बसपा द्वारा अय्यूब इदरीसी को टिकट की घोषणा होते ही पार्टी में बवाल शुरू हो गया है । विधानसभा टिकट दिलाने का झांसा देकर रुपए ले लिए और टिकट किसी दूसरे को दे दिया ।पूर्व सभासद वरिष्ठ बसपा नेता ताज चौधरी ने पत्र में लिखा है कि गत वर्ष सम्पन्न हुये पंचायती चुनाव में बहुजन समाज पार्टी पश्चिमी उ०प्र० (प्रभारी शमसुद्दीन राईन व पार्टी के पूर्व जिलाध्यक्ष प्रेमचंद्र भारती निवासी कड़कड़ मॉडल गाजियाबाद द्वारा जिला पंचायत वार्ड नं0 1 से चुनाव लड़ने की तैयारियां देखकर मेरठ मंडल सेक्टर प्रभारियों अनिल गौतम, राजकुमार सैन तथा मोदीनगर विधान सभा क्षेत्र अध्यक्ष मोहित जाटव को उनके घर तथा फैक्ट्री स्थित कैम्प कार्यालयों पर भेजकर पार्टी द्वारा टिकट दिलवाकर ब.स.पा. से चुनाव लड़ाने के मकड़जाल में फंसाया। चूंकि मैं पिछले दो दशकों से पार्टी का पुराना कार्यकर्ता हूँ एक-दो बार इन लोगो द्वारा शमसुद्दीन राईन के गाजियाबाद स्थित तनु श्री अपार्टमेन्ट ले जाकर भी मेरी मुलाकातें कराई गई। शमसुद्दीन राईन पूर्व में भी मेरे कैम्प कार्यालय पर एक बार पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष को लेकर आ चुके थे। पत्र में आगे कहा है कि पूर्व में ब.स.पा. का नगर अध्यक्ष विधान सभा अध्यक्ष जिला सचिव एवं विधान सभा प्रभारी भी रहा है। इन सभी द्वारा मुझे मोहजाल में फंसाकर पहले प्रेमचंद भारती को पांच लाख रूपये मुझसे यह कहकर जमा कराये कि तुमसे पहले भारती द्वारा जो पहले प्रत्याशी अमरपाल गुर्जर का पाच लाख रूपया टोकन जमा है वो वापिस होगा। फिर इसके बाद 15 लाख रू० दोबारा प्रेमचंद द्वारा मेरे सामने मुझसे लेकर रात के समय तनु श्री स्थित छटी सातवी मंजिल पर राइन के गार्डो वाले कमरे में राईन के पास जमा कराये उस वक्त तथा पहले रूपये देते समय भी मेरे चारों पुत्र उपस्थित थे। फिर मेरा मुझे प्रत्याशी घोषित कराने की एवज़ में 5 लाख रूपये तीसरी बार में अपनी लाल रंग की पजेरो गाड़ी में बैठाकर मुझसे लेकर अपने ड्राईवर विक्की द्वारा गाड़ी की डेक्सबोर्ड में लेकर रखवाये । लेकिन ऐन वक्त पर सुना कि पुराने प्रत्याशी अमरपाल गुर्जर से दोगुनी रकम लेकर पार्टी का टिकट उसका करा दिया। तथा मेरे साथ धोखाधड़ी की। चुनाव सम्पन्न हुये लगभग 6-8 माह बीत गये। तभी से शमसुद्दीन राईन के तनुश्री स्थित निवास व भारती के कड़कड़ मॉडल स्थित घर के चक्कर लगाकर थक हार गया यहां तक कि इस समयावधि में दो बार परिवार के सदस्यों के अस्पताल में भर्ती रहने के दौरान भी इनके घर के चक्कर लगाने पर तथा मात्र लाख पचास हजार मांगने पर भी इनके द्वारा यह कहकर घर से टरका दिया कि दोपहर 12 बजे तक ड्राइवर को लेकर कौशाम्बी स्थित यशोदा अस्पताल में भेज रहा हूँ। शाम तक इंतजार करने के उपरान्त भी पैसे न दिये जाने पर दोस्तों से अथवा घर फोन करके रूपये मंगाकर मरीज की छुट्टी कराकर ले गया था। इन्होंने पहले पार्टी के निर्वाचित जिला पंचायत सदस्यों की वोट बिकने पर पैसा लौटाने का बहाना भी बनाया था। कभी प्रेम भारती की नानी की मौत का बहाना बनाया। अब इनके द्वारा रुपये वापिस मांगने पर या किसी से ज्यादा कहने पर अंजाम भुगतने यहां तक कि किसी अज्ञात वाहन द्वारा दुर्घटना में मरवाने एवं किसी अन्य षडयन्त्रकारी घटना का शिकार होने की धमकी दी है । मानसिक परेशानी से तंग आकर 26 जनवरी के दिन राष्ट्रीय पर्व पर पुलिस लाईन के सामने अथवा जिला मुख्यालय या पूर्व मुख्यमंत्री एवं ब.स.पा. की राष्ट्रीय अध्यक्षा मायावती के घर के बाहर परिवार सहित आत्मदाह करने को मजबूर होगा। क्योंकि मेरे ऊपर भी लोगों की कुछ देनदारियों एवं परिवार की जिम्मेदारियां भी है जिसका पुलिस प्रशासन स्वयं जिम्मेदार होगा । उन्होंने अपनी शिकायत में कहां है कि भारती के दिये चैक व तनुश्री व कड़कड़ मॉडल चक्कर लगाने की कैमरों की रिकार्डिंग व मोबाईल फोनो से हुई बातों की रिकार्डिंग व कुछ एस०एम०एस० भी सबूत के तौर पर उपलब्ध हैं ताज चौधरी उपाध्यक्ष पश्चिमी उ०प्र० संयुक्त व्यापार मंडल मेरठ पूर्व पार्षद व सदस्य, जिला योजना समिति गाजियाबाद ने इस बारे मे बताया कि पत्र की प्रतिलिपि मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश उ०प्र जिलाधिकार वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पुलिस अधीक्षक ग्रामीण, जनपद गाजियाबाद अपर पुलिस महानिदेशक, एन. सी. आर. जोन मेरठ मण्डल, मेरठ। आयुक्त, मेरठ मण्डल, अध्यक्ष, राष्ट्रीय मानवाधिकार अध्यक्ष, राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग को भी भेजी गई हैं। उन्होंने बताया कि आयुक्त मेरठ मंडल इस मामले में पुलिस को कार्रवाई के लिए आदेश किए हैं।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close