Breaking Newsउत्तर प्रदेशराष्ट्रीयहमारा गाजियाबाद

कोरोना के बढ़ते हुए मामले को देखते हुए जिला जेल में मिलाई पर लगी पाबंदी

एक बार फिर परिजन रह जाएंगे बंदियो से मिलने के लिए महरूम

एमजे चौधरी
गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश शासन के आदेश पर प्रदेश के सभी जिलों में अब बंदियों से मुलाकात परिजन नहीं कर पाएंगे । क्योंकि कोरोना का खतरा लगातार बढ़ रहा है । जिस को दृष्टिगत रखते हुए शासन ने समस्त जेलों को आदेश पारित कर निर्देश जारी किए हैं। जेल प्रशासन ने भी मुलाकात खिड़की और जगह-जगह नोटिस चस्पा कर मिलाई को आने वाले परिजनों को जानकारी से अवगत कराया है। जानकारी के अनुसार बता दें कि कोरोना वायरस के बढ़ते हुए मामले को देखते हुए शासन ने एक बड़ा आदेश जारी किया है। आदेश के तहत जेल में बंद बंदियों से अब परिजन मुलाकात नहीं कर पाएंगे। कारण भी स्पष्ट हो रहा है कि कोरोना महामारी की लहर को देखते हुए जेल प्रशासन भी अब सभी तरह की सावधानी और एहतियात बरतते हुए जेल में बंद बंदियों को सुरक्षित रखने के उद्देश्य से इस बड़े कदम को उठाया गया है। जहां एक तरफ प्रदेश सरकार जनता को हित को ध्यान में रखते हुए तमाम तरीके सावधानी बरत रहा है तो वहीं जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग ने भी कोरोनावायरस को देखते हुए अलर्ट मोड पर दिखाई दे रहा है। इसी कड़ी में डासना की जिला जेल में भी अब बंदियों से मिलाई पर पाबंदी लगाई गई है। जेल अधीक्षक आलोक सिंह और जेलर ब्रिजेन्द्र सिंह एवं वरिष्ठ फिजीशियन डॉ एमके तोमर व डॉक्टर नितिन प्रियदर्शी ने जानकारी देते हुए बताया कि शासन की गाइड लाइन के अनुसार प्रतिदिन जेल में मिलाई को आने वाले परिजनों को इतला कर दी गई है कि अब बंदियो से मुलाकात नहीं हो पाएगी। क्योंकि कोरोना के बढ़ते हुए मामले को देखते हुए एहतियात और सावधानी बरती जा रही है । जेल में बंद करीब 5284 बंदियों की सुरक्षा और एहतियात को ध्यान में रखते हुए शासन के आदेश पर इस कदम को उठाया गया है । जगह जगह नोटिस चस्पा कर दिए गए हैं। जिससे कि मिलाई को आने वाले लोगो को कोई परेशानी का सामना ना करना पड़े। वही जेल स्वास्थ्य टीम ने भी जानकारी देते बताया कि जेल में सभी बंदियो को एहतियात और सावधानी के साथ रहने की अपील की गई है। जेल में सैनिटाइजेशन और मास्क का प्रयोग किया जा रहा है। एहतियात के तौर पर सभी बंदियो की जांच भी की जा रही है। हालांकि जेल में कोई भी ऐसा बंदी अभी तक नहीं मिल पाया जो कोरोना संक्रमित हो, लिहाजा एहतियात के तौर पर सभी तैयारियों को पूरा किया गया है। जेल प्रशासन टीम में जेल अधीक्षक आलोक सिंह, जेलर ब्रिजेन्द्र सिंह, वरिष्ठ फिजीशियन डॉ एमके तोमर, डिप्टी जेलर शैलेश सिंह, डिप्टी जेलर एके झा, फिजिशियन नितिन प्रियदर्शी, डिप्टी जेलर एके सिंह, डिप्टी जेलर विजय कुमार गौतम, डिप्टी जेलर एके शाही, जेल हेड वार्डन शिवकुमार शर्मा सहित तमाम जेल कर्मचारी व अधिकारियों को भी सावधानी के साथ कार्य करने के निर्देश जारी किया है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close