Breaking Newsउत्तर प्रदेशराजस्थान

पैरा टीचर संविदा कर्मियों की स्थाई करने की मांग को लेकर धरना जारी

आज ढाई महीने से ठाकुर शमशेर खान के नेतृत्व में जो पैरा टीचर मदरसा पैरा टीचर संविदा कर्मी सभी लोगों ने जो धरना दे रखा है शहीद स्मारक पर शांतिपूर्ण तरीके से गांधीवादी तरीके से जो धरने पर बैठे हैं चुनाव में किए गए वायदे के मुताबिक अशोक गहलोत की कांग्रेस सरकार से अपना हक हक मांग रहे हैं उन पर नया साल 2022 का तोहफा अशोक गहलोत की कांग्रेस सरकार संविदा कर्मियों को मदरसा पैरा टीचर्स को लाठियां बरसा कर तोहफा दे रही है जो निंदनीय है जो काबिले मज मत है जितनी भी मज मत की जाए जितनी भी निंदा की जाए अशोक गहलोत की वह कम है इस निंदनीय कार्य में गोविंद सिंह डोटासरा प्रताप सिंह खाचरियावास यह दोनों संगी है आरएसएस के चमचे हैं उनके इशारे पर अशोक गहलोत 13 टीचर पर लाठियां बरसा रहा है अशोक गहलोत की सरकार मोदी सरकार और योगी सरकार से भी ज्यादा जालिम हो चुकी है उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के योगी सरकार जालिम बनकर लोगों पर जुल्म कर रही है इसी तर्ज पर राजस्थान में अशोक गहलोत की सरकार कांग्रेस की सरकार पैरा टीचर मदरसा पैरा टीचर और संविदा कर्मियों पर आर एस एस के इशारे पर जुलम कर रही है इस जुल्म के खिलाफ एम राष्ट्रीय शाह समाज फाउंडेशन इंडिया अशोक गहलोत की कांग्रेस सरकार की निंदा करती है और चेतावनी देती है अगर ऐसा जुल्म किया गया तो आने वाले 2023 में कांग्रेस को एक वोट नहीं मिलेगा जिस दिन गोविंद सिंह डोटासरा को शिक्षा मंत्री बनाया गया उसी दिन से राजस्थान में मदरसा पैरा टीचर्स पर जुल्म करना शुरू कर दिया जो स्कूलों में उर्दू पढ़ाया जा रहा था उसको हटा दिया गया उर्दू की जगह संस्कृत टीचर लगा दिए गए यह आरएसएस नीति के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा उर्दू विरोधी है मुस्लिम विरोधी है और इसी ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को गुमराह कर रखा है एम राष्ट्रीय शाह समाज फाउंडेशन इंडिया इसकी पुरजोर शब्दों में निंदा करती है राजस्थान का मुख्यमंत्री मुर्दाबाद राजस्थान का शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा मुर्दाबाद इसी उम्मीद के साथ मैं सभी से गुजारिश करना चाहता हूं कि राजस्थान के अशोक गहलोत की कांग्रेस सरकार का विरोध करें उसकी निंदा करें जितनी भी निंदा की जाए कम है इसी आशा के साथ में मौलाना मुमताज अली शाह कादरी वरिष्ठ प्रभारी राजस्थान एम राष्ट्रीय शाह समाज फाऊंडेशन इंडिया

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close