Breaking Newsउत्तर प्रदेशराष्ट्रीयहमारा गाजियाबाद

केके शर्मा साहिबाबाद से लड़ेंगे क्या चुनाव सड़क पर लगे कोडिंग कर रहे हैं इशारा

साहिबाबाद
साहिबाबाद विधानसभा सीट से पूर्व विधायक केके शर्मा की दावेदारी मजबूत मानी जा रही है क्षेत्र में लगे बैनर पोस्टर यही इशारा कर रहे हैं की वह इस बार साहिबाबाद विधानसभा सीट से अपनी किस्मत आज माना चाहते हैं आपको बता दें कि केके शर्मा शहर सीट से विधानसभा का चुनाव लड़ने के बाद शिकस्त खा चुके हैं अब उन्होंने यहां से चुनाव ने लड़कर साहिबाबाद विधानसभा सीट से ही चुनाव लड़ने का मन बना लिया है अब यह आलाकमान को ही तय करना है की क्या वह पहले की तरह उन पर विश्वास कर पाएंगे या फिर हारे हुए प्रत्याशी को टिकट नहीं दिया जाएगा इसका फैसला आने वाले समय में ही हो पाएगा आगामी विधानसभा चुनाव में अब कुछ दिन का ही समय शेष बचा है इसलिए चुनाव के नजदीक आते ही चुनावी चर्चा होना लाजमी है क्षेत्र में कुछ नया होगा तो चर्चा भी उठेंगे इन चर्चाओं में आजकल केके शर्मा के हार्डिंग भी चर्चा का विषय बने हैं हालांकि यह हार्डिंग दीपावली के दौरान लगाए गए थे लेकिन कुछ होर्डिंग और बैनर अभी लगे हुए हैं जिन्होंने नई तरह की चर्चाओं को जन्म दिया है आपको जानकारी करा दें कि केके शर्मा 20 साल से अधिक समय पूर्व गाजियाबाद शहर के विधायक रह चुके हैं वह उस समय का दौर था जब गाजियाबाद सीट दिल्ली की सीमा से लेकर हापुड़ जिले कीसीमा तक लगी हुई थी उसके बाद केके शर्मा दिल्ली की राजनीति में सक्रिय हो गए थे एक तरह से वह गाजियाबाद के निवासी ही बनकर रह गए थे उनका गाजियाबाद की राजनीति में कोई खासा दखल नहीं था लेकिन पिछला विधानसभा चुनाव लड़ कर उन्होंने जनता को यह एहसास कराया था कि वह गाजियाबाद को छोड़कर जाने वाले नहीं है आप ही के बीच रहकर आपकी समस्याओं को उठाएंगे माना यही जा रहा था कि केके शर्मा इस बार भी विधानसभा चुनाव की तैयारी गाजियाबाद से ही करेंगे लेकिन उनके हार्डिंग अब ज्यादातर मुरादनगर विधानसभा और साहिबाबाद विधानसभा क्षेत्र में अधिक दिखाएं दे रहे हैं इन दोनों क्षेत्रों में दावेदारों में उनका नाम शामिल होने के बाद अन्य दावेदारों की धड़कन जरूर तेज हो गई है क्योंकि पूर्व विधायक केके शर्मा को नकारा नहीं जा सकता है उन्होंने अपने कार्यकाल में क्षेत्र में काफी विकास कार्य कराएं थे और हर क्षेत्र में उनके विकास कार्यों को आज भी लोग याद करते हैं अब यह पार्टी आलाकमान को ही तय करना है कि वह उन्हें इस सीट से टिकट देंगे साहिबाबाद में कांग्रेस पार्टी से मांगेराम त्यागी का भी नाम चल रहा है उन्होंने भी अपनी दावेदारी पेश करते हुए क्षेत्र में होर्डिंग लगाए हैं लोकसभा चुनाव कांग्रेस के टिकट पर लड़ चुकी पार्टी की प्रदेश प्रवक्ता डोली शर्मा भी साहिबाबाद से चुनाव की दावेदार अभी मानी जा रही हैं लेकिन उनकी सक्रियता क्षेत्र में अभी कम ही दिखाई दे रही है उन्होंने भी अपना ध्यान साहिबाबाद क्षेत्र के अलावा शहर सीट पर अधिक लगा दिया है इसलिए वह गाजियाबाद से भी चुनाव में अपनी किस्मत आजमा सकती है इसे नकारा नहीं जा सकता हालांकि अभी तक यह चर्चाओं में ही चल रहा है की कौन कहां से चुनाव लड़ेगा लेकिन नेताओं के लगे होर्डिंग जरूर संकेत दे रहे हैं कि वह अपनी किस्मत आजमाने और विधायक बनने का सपना पूरा करने के लिए कहीं भी जा सकते हैं नेताओं के क्षेत्र बदलने को लेकर उनके समर्थक और पार्टी नेता भी अलग-अलग तर्क रख रहे हैं कुछ लोगों का कहना है कि शायद केके शर्मा को शहर सीट से टिकट मिलने की संभावना कम दिखाई दे रही हो क्योंकि शहर सीट पर पूर्व सांसद स्वर्गीय सुरेंद्र गोयल के पुत्र सुशांत गोयल भी अपनी दावेदारी पेश कर रहे हैं इसलिए केके शर्मा ने साहिबाबाद और विधानसभा मुरादनगर मैं अपने होर्डिंग लगाकर यह मनसा जाहिर कर दी है कि वह कहीं से भी चुनाव लड़ सकते हैं उन्हें एक बार फिर से विधायक बनना है उनकी यह इच्छा पूरी हो पाएगी या नहीं यह तो पार्टी आलाकमान को ही तय करना है लेकिन चुनावी माहौल में नेताओं के चुनाव क्षेत्र बदलने की भी चर्चाएं तेज हो रही है

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close