Breaking Newsउत्तर प्रदेशराष्ट्रीयहमारा गाजियाबाद

शाम को घर में कैद होने पर मजबूर क्रोसिंग रिपब्लिक सोसाइटी की हजारों महिलाएं

ग़ाज़ियाबाद।क्रोसिंग रिपब्लिक मे प्रतीक सोसाइटी की अध्यक्ष प्रीति चन्द्रा राय ने बताया कि अभी तो हम शराब की दुकान के खिलाफ 200 महिलाएं आयी थी ।लेकिन जिलाधिकारी ने कोरोना के चलते सिर्फ पांच महिलाओं को बुलाया और उनसे ज्ञापन लिया और शराब की दुकान के खिलाफ कार्रवाई के लिये सिटी मजिस्ट्रेट को आदेश दिया है।
लेकिन प्रसाशन अगर अवैध शराब की दुकान के खिलाफ कोई कठोर कार्रवाई नही करते है तो हम सैकड़ो महिलाएं जिलाधिकारी कार्यालय के सामने प्रदर्शन करेंगी।

ज्ञापन देने आई महिलाओं का कहना यह है कि वहाँ रिपब्लिक क्रोसिंग गोल-चक्कर पर बनी शराब की दुकान खुलने से यह नोबत आ गई है कि क्रोसिंग रिपब्लिक सोसाइटी की महिलाओं को शाम के बाद वहाँ से निकलने मे डर लगता है । ज्ञापन देने आई महिलाओं का कहना है कि इस शराब की दुकान को वहां से हटाकर सोसाइटी के बाहर कहीं और शिफ्ट की जाए जिससे सोसाइटी में रह रही हजारों महिलाओं को छेड़खानी से बच सकें और महिलाएं शाम को अपने घर से निकलकर सोसाइटी में आराम से अपने बच्चों के साथ घूम सके।

सोसाइटी के बीच शराब की दुकान खोले जाने पर आबकारी विभाग पर उठ रहे हैं सवाल

सोसाइटी के बीच शराब की दुकान खोलने का लाइसेंस देने पर भी आबकारी विभाग के अधिकारियों पर सवाल खड़े हो रहे हैं कि क्रॉसिंग रिपब्लिक जिसमें कई हजारों की संख्या में लोग रहते हैं उस बीच सोसाइटी के गोल चक्कर पर आबकारी विभाग ने शराब की दुकान खोलने का लाइसेंस कैसे दे दिया यह तो जांच का विषय है लेकिन बहरहाल जो भी हो महिलाओं की सुरक्षा को लेकर प्रेदश के मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को सख्त निर्देश दिये हुए है लेकिन अधिकारी मुख्यमंत्री के आदेशों की धज्जियां उड़ा रहे है और नियमो की अनदेखी कर शराब की दुकान के लाइसेंस दे रही है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close