Breaking Newsउत्तर प्रदेशराष्ट्रीय

प्रधानमंत्री के द्वारा काले कृषि कानूनों को रद्द करने की घोषणा करना किसान आंदोलन का परिणाम

अखिल भारतीय किसान यूनियन के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं ने नगला पीपल ज्योति रोड मैनपुरीपर मिष्ठान वितरण कर खुशी का इजहार किया संगठन के प्रमुख पदाधिकारियों के साथ राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिल संघर्षी ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि किसानों के आंदोलन, त्याग, तपस्या और बलिदान का परिणाम है कि आज देश के प्रधानमंत्री ने काले तीनों कृषि कानून को रद्द करने की घोषणा की है हजारों किसानों की शहादत को देश का इतिहास कभी भूल नहीं सकता है कल तक जो लोग किसान आंदोलन गलत बता रहे थे और कानूनों को सही बता रहे थे आज उन सब के मुंह पर तमाचा लगा है प्रधानमंत्री ने साबित कर दिया कहीं ना कहीं सरकार गलत थी और किसान, नौजवान, मजदूर सहित आंदोलनकारी किसान संगठन अपनी जगह शत प्रतिशत सही थे जैसा कि पूरे देश का किसान नौजवानों का देश के प्रधानमंत्री की विभिन्न झूठी घोषणाओं की वजह से जो भरोसा उठ गया है उसे पुनः कायम करने के लिए आज ही उन्हें घोषणा करनी चाहिए थी कि 29 तारीख से चलने वाली सदन में पहली बार हम इस काले कानूनों को रद्द करने के प्रस्ताव को पास करा कर किसान मजदूरों के बीच में खोई हुई छवि को सुधारने का काम करेंगे निश्चित रूप से जरूरत इस बात की है जिस प्रकार इन कानूनों को रद्द करते हुए एमएसपी की गारंटी कानून सहित किसानों के हित में आवश्यक कदम उठाए और जो आए दिन मंडी सहित व्यापारियों के द्वारा की जाने वाली लूट से किसानों को बचाया जा सके।

 

 

इस अवसर पर प्रमुख रूप से :- बलराम सिंह जिलाध्यक्ष अखिल भारतीय किसान यूनियन मैनपुरी इंजी धर्मवीर राही, सादेश अली मसीह, सीटू यादव, अभिषेक यादव, सर्वेश जी, पूरन सिंह लोधी, रामनरायण शाक्य, अवनीश यादव, दीपक यादव, विपन यादव, रामू दिवाकर, टिंकू यादव, वितेंद्र यादव, कुलदीप कुमार चंदू भाई, हरजीत सिंह, विजय दिवाकर,प्रदेश उपाध्यक्ष राजीव सोलंकी, मंडल उपाध्यक्ष राजपाल वर्मा, गोलू सहित आदि लोग उपस्थित रहे

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close