Breaking Newsउत्तर प्रदेशमेरठराष्ट्रीय

गुलाम हुसैन के पीर पर उर्स मुबारक का आयोजन।

सरधना क्षेत्र के सरूरपुर।
गांव रासना स्थित बाबा गुलाम हुसैन के पीर पर उर्स मुबारक का गुरूवार को आयोजन किया गया। जहां पर दूर दराज से आए सैंकड़ों अकीदतमंदों ने चादरपोशी करते हुए अमन चैन के लिए दुआएं मांगी। जिसके बाद सभी अकीदतमंदों ने बाबा का लंगर चखा। इस दौरान सर्वसमाज के लोगों ने उर्स में शामिल होकर आपसी भाईचारे की मिशाल कायम की।
गांव रासना में गुरूवार को पीर बाबा गुलाम हुसैन के उर्स मुबारक का आयोजन किया गया। जिसकी शुरूआत में अकीदतमंदों ने बाबा गुलाम हुसैन के मजार पर चादरपोशी करते हुए फातिया पढ़ी। वहीं, पीर के गद्दीनशीन बाबा रोनक शाह ने बताया कि बाबा गुलाम हुसैन करीब 175 साल पुराने बुजुर्ग हैं। जिन्होंने अपने जीवन में संघर्ष करते हुए कौम की बुराईयों को खत्म करने के लिए अपने जीवन को खुदा के नाम पर कुरबान किया। साथ ही बाबा ने आपसी भाईचारे को हमेशा बढ़ाने के लिए अपने प्रवचन दिये थे। जिसके चलते पिछले कई सालों से हरियाणा, उत्तराखंड, पंजाब व दिल्ली के अलावा दूर दराज के अकीदतमंद उर्स मुबारक में पहुंचकर बाबा के मजार पर चादरपोशी करते हुए अमन चैन की दुआ करते हैं। गुरूवार को पीर के मुतव्वली और उर्स मुबारक के मुख्य अतिथि ग्राम प्रधान अमरीश त्यागी ने पीर पर चादर चढ़ाते हुए मात्था टेक कर मन्नत मांगी। इससे पहले गांव के रास्ते पर बाबा की बुलंद झंडे के साथ सवारी निकाली गई। बुजुर्ग पीर बाबा शेख शाहबूदीन शाह साबरी चिश्तिया ने दुनिया के अमन चैन की दुआ के लिए खिताब फरमाया। जिसके बाद ग्राम प्रधान रासना अमरीश त्यागी ने लंगर में सभी को खाना व प्रसाद वितरित किया। अकीदतमंदों ने बताया कि पिछले वर्षों से उर्स मुबारक पर सैंकड़ों लोगों की मन्नत पूरी हुई हैं। साथ ही पीर के उर्स पर सर्वसमाज के लोग मिलजुलकर सहयोग करते हैं। जिससे यहां आपसी भाईचारे की मिशाल कायम हो रही है। इस दौरान बाबा रौनक शाह, जगमोहन, बबली त्यागी, शाहीद प्रधान, विकास त्यागी, इरफान, सुभाष शर्मा, अनिल त्यागी, अरूण कुमार, दिनेश, दीपक, रहीसू, तितरौदा, आमिल, पंकज, अमित आदि मौजूद रहे।

 

संवाददाता जावेद अब्बासी

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close