Breaking Newsउत्तर प्रदेशराष्ट्रीय

साम्हो में दबंग प्रधानाध्यपक रहता है स्कूल में हमेशा अनुपस्थित

आप अभीतक संवाददाता  भरथना I विकास खण्ड क्षेत्र की ग्राम पंचायत साम्हो स्थित पूर्व प्राथमिक विद्यालय गुरुवार को निर्धारित समय साढ़े आठ बजे के बचाये ठीक नौ बजे खुल सका,जबकि विद्यालय के जिम्मेदार कर्मी प्रधानाध्यपक पूरी तरह विद्यालय से नदारत ही बने रहे।
आपको बता बतादें यह विद्यालय आला अधिकारियों की अनदेखी का शिकार बना हुआ है,गैर जिम्मेदार प्रधानाध्यापक की खराव कार्यशैली के कारण यहाँ की व्यवस्थायें भी छिन्न-भिन्न बनी हुई हैं।
कुछ देर बाद खुले विद्यालय में पहुँचे स्कूली छात्रों ने मध्यान भोजन में प्रतिदिन वेस्वाद खिचड़ी मिलने का आरोप लगाते बताया कि एक एक महीना बीत जाने पर भी स्कूल में उनके प्रधानाध्यापक नही आते हैं। उन्हें दो बर्षो से उनका बजीफ़ा भी नही मिल सका है अभी तक स्कूल ट्रेस जूते नही मिलने के कारण उन्हें सर्दी के मौसम में भी बिना ट्रेस स्वेटर जूतों की ही स्कूल आना पड़ता है।
क्षेत्रीय प्रधान विजेंद्र बाबू दिवाकर ने उक्त विद्यालय के प्रधानाध्यापक की निंदनीय कार्यशैली पर तमाम आरोप लगाते हुए बताया कि प्रधानाध्यापक पूरी दबंगई के बल पर काम करता है। जब मन होता है स्कूल पहुँच कर अनुपस्थित दर्ज रजिस्टर पर एक ही बार मे पूरे महीने की उपस्थिति दर्ज कर चला जाता है। यही नही वह तो खण्ड शिक्षा अधिकारी द्वारा अनुपस्थिति दर्ज करने के बाद ऊपर से ही अपने दस्तख़त कर देता है। जिसके सम्बन्ध में उनके द्वारा तमाम लिखित शिकायतें शिक्षा विभाग के अधिकारियों से की जा चुकीं हैं। प्रधानाध्यापक के महीनों तक अनुपस्थित रहने के कारण स्कूली छात्रों को मध्यान भोजन मीनू के अनुसार नही मिल रहा है उन्होंने बताया कि प्रधानाध्यापक ने फर्जी तरीके से इस विद्यालय में एक सौ पांच छात्रों का पंजीकरण कर रखा है,जबकि विद्यालय में पिछले कई बर्षो से नौ दस बच्चो से अधिक देखे नहीं जाते है। प्रधानाध्यापक मध्यान भोजन से लेकर बच्चो के बजीफ़ा के धन की इत्रश्री करने में जुटा पड़ा है। आलाधिकारी इस विद्यालय की ओर मुड़कर भी नही देखते हैं।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close