Breaking Newsउत्तर प्रदेशराष्ट्रीयहमारा गाजियाबाद

एनसीपीसीआर के आदेश के बाद भी जिलाधिकारी नही करा पाए आर.टी .ई के अंतर्गत बच्चों का एडमिशन

आर .टी .ई के तहत एडमिशन पर जिलाधिकारी एवम शिक्षा अधिकारी बने मूकदर्शक

जीपीए ने शिक्षा अधिकारियों पर सख्त कार्यवाई की मांग की

गाजियाबाद पेरेंट्स एसोसिएशन ने निःशुल्क एवम अनिवार्य बाल शिक्षा अधिकार 2009 के अंतर्गत चयनित बच्चों के एडमिशन को लेकर ढुल मूल रवैया अपनाने और जानबूझकर लापरवाही बरतने पर संबंधित शिक्षा अधिकारियों पर सख्त कार्यवाई और चयनित बच्चों का एडमिशन सुनिश्चित कराने के लिये जिलाधिकारी के नाम अपर जिला अधिकारी ऋतु सुहास को ज्ञापन दिया एवम राष्ट्रीय बाल सरक्षंण आयोग को भी अवगत कराया जीपीए ने बताया कि आर .टी .ई के अंतर्गत चनयनित छात्रा आयात ताज़ीम पुत्री मोहम्मद ताज़ीम का एडमिशन गौतम पब्लिक स्कूल , प्रताप विहार एवम वंशिका , ध्रुव , मयंक का एडमिशन जे .के .जी इंटरनेशनल स्कूल ,विजय नगर में करने का शासनादेश जारी हुआ था एडमिशन नही लेने की शिकायत जीपीए द्वारा क्रमशः दिनाँक 17/09/2021 को पत्रांक संख्या जीपीए / 1223 एवम दिनाँक 20/09/2021 को पत्रांक संख्या जीपीए /1224 के माध्य्म से एनसीपीसीआर को अवगत कराया गया था जिसका सज्ञान लेते एनसीपीसीआर द्वारा क्रमशः दिनाँक 21/09/2021 को फ़ाइल नंबर 215606/2021-22 / एनसीपीसीआर -आर टी ई ,दिनाँक 30/09/2021 को फ़ाइल नंबर यूपी 216124/2021-22/ एनसीपीसीआर – आर टी ई के माध्य्म से गजियाबाद जिलाधिकारी को 20 दिन के अंदर एडमिशन स्कूल में सुनिश्चित कर जांच रिपोर्ट सौपने का पत्र जारी किया गया था लेकिन पत्र जारी होने के लगभग 2 महीने बीत जाने के बाद भी छात्र / छत्राओ का एडमिशन आर टी ई के अंतर्गत सुनिश्चित नही कराया गया है और शिक्षा अधिकारी एवम जिलाधिकारी द्वारा जानबूझकर ढुल मूल रवैया अपनाया जा रहा है जिसके कारण छात्र / छात्रा के अभिभावक मानसिक तनाव में है जीपीए ने एनसीपीसीआर से अनुरोध किया कि छात्र / छत्राओ की शिक्षा के अधिकार को ध्यान में रखते हुये चयनित बच्चों का एडमिशन अतिशीघ्र सुनिश्चित कराया जाए साथ ही संबंधित अधिकारियों पर शासन्देश एवम एनसीपीसीआर द्वारा जारी पत्र का उलघ्न करने पर कठोर कार्यवाई सुनिश्चित की जाये । इस मौके पर जसवीर रावत , कौशलेंद्र सिंह , कौशल ठाकुर , महेन्द्र सिंह , फरमान खान ,धर्मेन्द्र यादव, नरेश कसोना , विवेक त्यागी आदि मोजूद रहे ।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close