Breaking Newsउत्तर प्रदेशराष्ट्रीय

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी का सपा में हुआ विलय तो मुकेश बरुआ होंगे प्रबल दावेदार

बाह। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष भले ही 2022 में बिना किसी दल से गठबंधन किए बगैर अकेले ही उत्तर प्रदेश में सत्ता की कुर्सी पर काबिज होने का दावा करते हो वहीं प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व चाचा शिवपाल यादव अपनी पार्टी प्रसपा को समाजवादी पार्टी में विलय करने के निरंतर कयास लगाते दिख रहे हैं, अगर बाह विधानसभा मैं समाजवादी पार्टी से दावेदारी की बात की जाए तो समाजवादी पार्टी ब्राह्मण चेहरा लाने की पूरी कोशिश कर रही है क्योंकि बाह विधानसभा में सवर्ण वोट बैंक अन्य किसी वोट बैंक की तुलना में विधानसभा की राह काफी हद तक आसान कर देती है पिछले कई दशकों से बाह विधानसभा में सवर्ण ही सत्ता पर काबिज रहे हैं वही पूर्व कैबिनेट मंत्री राजा अरिदमन सिंह जी समाजवादी पार्टी का परचम एक बार बाह विधानसभा में फहरा चुके हैं।
2022 विधानसभा चुनाव के लिए समाजवादी पार्टी से विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए कई दावेदार अपनी दावेदारी पेश करते नजर आएंगे वहीं अगर चाचा शिवपाल की पार्टी का समाजवादी पार्टी में विलय हुआ तो चाचा शिवपाल यादव के चहेते व बाह विधानसभा के मूल निवासी मुकेश बरुआ टिकट की दौड़ में अब्बल साबित होते नजर आएंगे,
क्योंकि जन- जन के साथ सुख दुख में शामिल रहने व उनकी बढ़ती हुई लोकप्रियता उनकी विधानसभा टिकट की दावेदारी और मजबूत करेगी।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close