Breaking Newsउत्तर प्रदेशखरी खोटीराष्ट्रीयहमारा गाजियाबाद

विधायक नंदकिशोर गुर्जर की भृकुटि फिर हुई टेढ़ी

लोनी क्षेत्र के विधायक नंदकिशोर गुर्जर विधायक बनने के बाद से ही लगातार विवादों में घिरे रहे हैं। नंदकिशोर गुर्जर अधिकारियों के ऊपर अनेक बार गंभीर आरोप लगा चुके हैं। वह खुद को हिंदुत्व का भी बहुत बड़ा रक्षक मानते रहे हैं। अपनी ही पार्टी के नेताओं के खिलाफ की उनके विवाद लगातार सुर्खियों में रहे हैं। इस बार वे लोनी बॉर्डर थाने इंस्पेक्टर राजेंद्र त्यागी के तबादले पर बरसे हैं। उन्होंने एक पत्र वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को लिखा है जिसमें उन्होंने कहा है कि राजेंद्र त्यागी बिना किसी लाग लपेट के गौ तस्करों के खिलाफ अभियान चला रहे थे। राजेंद्र त्यागी ने गौ तस्करों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की थी। इसी कड़ी में लोनी बॉर्डर थाना क्षेत्र के गांव बेहटा हाजीपुर के एक गोदाम से गोवंश का कटान कर रहे 7 लोगों को मुठभेड़ के बाद राजेंद्र त्यागी ने गिरफ्तार किया था। नंदकिशोर गुर्जर का कहना है कि इस साहसिक कार्रवाई के बावजूद एसएसपी ने राजेंद्र त्यागी का तबादला कर एक अच्छे अधिकारी को दंडित करने का काम किया है। नंदकिशोर गुर्जर ने एसएसपी पर खुले तौर पर आरोप लगाया है कि उन्होंने गौ तस्करों को बचाने का काम किया है। उनका यह आरोप भी है कि इससे पूर्व भी एसएसपी ने गौ तस्करों को बचाने का काम किया है। नंदकिशोर गुर्जर का कहना है कि यह प्रदेश सरकार की नीति के खिलाफ है। विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने जिले के एसएसपी पर गंभीर आरोप लगाकर चुनावी माहौल में एक तरह से अपनी सरकार के खिलाफ आरोप लगा दिए हैं। चुनावी माहौल में नंदकिशोर गुर्जर का यह पत्र विपक्ष के लिए एक मसाला साबित हो सकता है। इस पत्र के वायरल होने के बाद भाजपा नेता भी कह रहे हैं कि विधायक नंदकिशोर गुर्जर पार्टी के लिए लगातार सवाल खड़े करते रहे हैं जो चुनावी माहौल में किसी भी तरह से ठीक नहीं है। फिलहाल यह देखना होगा कि विधायक नंदकिशोर गुर्जर के आरोपों के बाद प्रदेश सरकार की तरफ से किस तरह की कार्रवाई होती है।

Show More

Related Articles

Close