Breaking Newsउत्तर प्रदेशराष्ट्रीय

महापर्व छठ पूजा:

मिर्ज़ापुर। छठ महापर्व पर बुधवार को व्रती महिलायों ने अस्ताचलगामी भगवान भास्कर की आराधना की , व्रत महिलायों ने अपने परिवार एवं देश की खुशहाली की कामना करते हुए कमर तक पानी में जाकर उगते सूर्य को अ‌र्घ्य दिया !
इस दौरान अहरौरा नगर क्षेत्रों के सभी पोखरा तलाब के घाटों पर हजारों भक्त उमड़ पड़े ! नगर क्षेत्रों में छठ के दौरान घाटों पर सुरक्षा व्यवस्था के भी पुख्ता इंतजाम नगर पालिका अहरौरा के तरफ से किए गए थे ! सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए प्रशासन भी चुस्त दुरुस्त नजर आए चप्पे-चप्पे पर थानाध्यक्ष संजय सिंह अहरौरा एवं नगर चौकी प्रभारी कुँवर मनोज सिंह अपने हमराहियों के साथ मुस्तैद दिखे !
घाट पर हर तरफ छठ मैया के गीत गूंज रहे थे ! लोग ढोल-नगाड़े की थाप पर नृत्य कर रहे थे।
आपको बतादूँ कि आस्था का महापर्व छठ पूजा एक ऐसा महापर्व हैं जिसमे माताएं पुत्र के लिए व्रत रखती हैं क्योंकि इस महापर्व छठ पूजा की महिमा अपरम्पार हैं। छठ पूजा पर्व में न कोई ब्राम्हण पूजा करवाता हैं और ना ही कोई भेद भाव है चाहे वह किसी जाति का हो, चाहे गरीब हो या अमीर सभी एक जगह बैठ कर पूजा करते हैं।
महापर्व छठ पूजा पर्व में भगवान सूर्यदेव की उपासना का चार दिवसीय महापर्व हैं। छठ पूजा व्रत सोमवार को नहाए खाए के साथ प्रारंभ हुआ है और छठ व्रती पूरे शुद्धता के साथ स्नान आदि कर अरवा चावल का भात, चने की दाल और लौकी की सब्जी खाकर छठ महापर्व का शुभारंभ की। मंगलवार को खरना रखी और बुधवार को व्रती पूरे दिन व पूरी रात उपवास रखकर शाम अस्ताचलगामी भगवान सूर्य को अर्घ्य दान दिया !
आपको बतादूँ कि अस्ताचलगामी भगवान सूर्य को अर्घ्य दान देने के बाद छठव्रती पूरी रात छठ मईया की आराधना कर गुरुवार की सुबह उगते भगवान भास्कर को अर्घ्य दान कर व्रत का समापन होता है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close