शख्शियत

खेलों के लिए समर्पित आदर्श व्यक्तित्व डा. श्यामसुंदर सूरी

आप अभी तक
प्रख्यात क्रिकेटर मनोज प्रभाकर एवं अन्य दर्जनों खिलाड़ियों को क्रिकेट का प्रशिक्षण देने वाले डा. श्यामसुंदर सूरी एक ऐसी शख्सियत हैं जिनका पूरा जीवन खेलों के लिए समर्पित रहा है। मोदीनगर के मुल्तानी मल मोदी पोस्ट ग्रेजुएट कालेज में 37 साल तक सेवारत रहने के बाद श्री सूरी एसोसिएट प्रोफेसर के पद से सेवानिवृत्त हुए। इसके अलावा श्री सूरी चौ चरणसिंह विश्वविद्यालय में शारीरिक शिक्षा के बोर्ड आफ स्टडीज के सदस्य और समन्वयक रहने के साथ साथ छह बार विश्वविद्यालय क्रिकेट टीम के कोच रहे। श्री सूरी चार बार जिला क्रिकेट संघ के पदाधिकारी भी रहे हैं।
शारीरिक शिक्षा में पी एच डी श्री सूरी इन दिनों जनहित इंस्टीट्यूट आफ एजुकेशन में प्राचार्य का पद संभाल रहे हैं। श्री सूरी ने प्रख्यात क्रिकेटर मनोज प्रभाकर को प्रशिक्षण देने के साथ लगभग 23 अन्य क्रिकेटर भी प्रशिक्षित किये हैं जिन्होंने अपने उत्कृष्ट खेल की बदौलत गाजियाबाद का नाम रोशन किया है। डा. श्यामसुंदर सूरी अपने बड़े भाई पूर्व ओलंपियन हरबंस लाल सूरी जो दिल्ली के सत्यवती कालेज दिल्ली विश्वविद्यालय में प्रोफेसर थे अपना आदर्श मानते हैं। डा. सूरी का कहना है कि उनका उद्देश्य शिक्षा में गुणवत्ता लाना और स्नातक स्तर के छात्र-छात्राओं को स्वावलंबी बनाना है। अन्त में उन्होंने संदेश दिया कि छात्र-छात्राओं के मानसिक विकास के लिए कालेजों में खेल कूद की गतिविधियों को बढ़ावा देना अत्यंत आवश्यक है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close