Breaking Newsउत्तर प्रदेश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का दौरा निरस्त, सुरक्षा व्यवस्था को लेकर अलर्ट हो गए थे अफसर

मेरठ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का मेरठ दौरा निरस्त हो गया है। सीएम योगी रविवार को मेरठ में मेडिकल कॉलेज की व्यवस्था का जायजा लेते। क्योंकि कोरोना काल में यहां तमाम अव्यवस्थाओं के मामले शासन तक पहुंचते रहे थे।

मार्च में कोरोना ने दस्तक दी तो मेडिकल कॉलेज के नवनिर्मित बिल्डिंग में कोविड वार्ड बनाए गए। जहां मेरठ और पश्चिमी यूपी के जिलों के कोरोना संक्रमितों को आइसोलेट कराया। पहले यह आरोप लगे कि मेडिकल में अव्यवस्थाएं हावी हैं। सही से इलाज नहीं किया जा रहा है। खाने की गुणवत्ता सही नहीं है। इसकी ऑडियो और वीडियो वायरल हुई तो मुख्यमंत्री ने विशेष टीम जांच के लिए मेरठ भेजी।

ये था प्लान

केजीएमयू के वरिष्ठ प्रोफेसर, शासन द्वारा गठित टीम ने मेडिकल कॉलेज की निगरानी की। अब रविवार को मुख्यमंत्री मेडिकल कॉलेज आएंगे। कॉलेज प्रशासन द्वारा जानकारी दी गई कि केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन भी शामिल होंगे। वहीं, संसदीय कार्य चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना, राज्यमंत्री संदीप सिंह, सांसद राजेंद्र अग्रवाल और विधायक सोमेंद्र तोमर भी रहेंगे। कॉलेज के प्राचार्य डॉ. ज्ञानेंद्र कुमार, चिकित्सा शिक्षा महानिदेशक केके गुप्ता व अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा रजनीश दूबे रहेंगे।

नगर निगम ने शुरू करा दी थी सफाई

मुख्यमंत्री के दौरे की सूचना मिलते ही नगर आयुक्त मनीष बंसल ने निर्धारित रूट सर्किट हाउस से जेल चुंगी, तेजगढ़ी चौराहा, मेडिकल कालेज, एल ब्लॉक तिराहा, बिजली बंबा बाईपास से परतापुर तक शुक्रवार रात में निरीक्षण किया। नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. गजेंद्र सिंह और सफाई प्रभारियों को सफाई कराने और अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिए। वहीं, मेडिकल में प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के तहत 150 करोड़ रुपये से सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक तैयार किया गया है। यहां 70 करोड़ से ज्यादा उपकरण लगाए हैं।

Show More

Related Articles

Close