Breaking Newsउत्तर प्रदेश

सुल्तानपुर: इमामबाड़े के विवाद में पूर्व प्रधान ने चाचा-भतीजे को मारी गोली, हालत नाजुक, ट्रॉमा सेंटर लखनऊ रेफर

सुल्तानपुर/ सुल्तानपुर जिले के मूंगर गांव में पांच दिन पूर्व दबंगों द्वारा ढहाए गए इमामबाड़े की पैरवी कर रहे चाचा भतीजे पर असलहों से लैस पूर्व प्रधान ने समर्थकों के साथ मंगलवार की देर शाम हमला बोल दिया। घर में मौजूद चाचा, भतीजे पर हमलावरों ने अंधाधुंध फायरिंग की। हमले में चाचा, भतीजे को गोली लग गई।

गंभीर हालत में दोनों को जिला अस्पताल पहुंचाया गया, जहां चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार के बाद दोनों को ट्रॉमा सेंटर लखनऊ रेफर कर दिया। सूचना मिलते ही डीएम व एसपी ने घटना स्थल का निरीक्षण किया। सीओ सिटी ने  जिला अस्पताल पहुंचकर घायलों की स्थिति के बारे में चिकित्सकों से वार्ता की।

गोसाईंगंज थाना क्षेत्र के मूंगर गांव में बीते बृहस्पतिवार को इमामबाड़े को पूर्व प्रधान कलाम ने जेसीबी लगाकर गिरा दिया था। इसकी शिकायत गांव के ही कर्रार हुसैन (65) पुत्र मकबूल हुसैन और उनके भतीजे वकार (19) पुत्र जर्रार हुसैन ने गोसाईगंज थाने के साथ ही जिला प्रशासन के उच्चाधिकारियों से की थी।

जिला प्रशासन ने मामले में उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिए थे। शिकायत से खुन्नस खाए असलहों से लैस पूर्व प्रधान कलाम ने मंगलवार की देर शाम कर्रार हुसैन के घर पर समर्थकों के साथ हमला कर दिया। ताबड़तोड़ फायरिंग में घर में मौजूद कर्रार हुसैन और उनका भतीजा वकार गंभीर रूप से घायल हो गए। चाचा भतीजे के पांच गोलियां लगीं। फायरिंग से गांव में दहशत फैल गई।

परिजन गंभीर रूप से घायल कर्रार हुसैन और उनके भतीजे जर्रार हुसैन को लेकर जिला अस्पताल पहुंचाया। घटना की सूचना मिलते ही जिलाधिकारी रवीश गुप्ता, एसपी शिवहरी मीणा मूंगर गांव पहुंच गए। दोनों ने घटना स्थल का जायजा लिया। जिला अस्पताल पुलिस के साथ पहुंचे सीओ सिटी सतीश चंद्र शुक्ल ने चिकित्सक से घायलों के बारे में जानकारी ली। चिकित्सकों ने बताया कि फायरिंग में वकार और कर्रार की हालत नाजुक है। दोनों को ट्रॉमा सेंटर लखनऊ रेफर कर दिया गया। थानाध्यक्ष गोसाईगंज ने बताया कि घटना की जांच की जा रही है। अभी तहरीर नहीं मिली है।

पुलिस पर मढ़ा आरोपियों को बचाने का आरोप

गांव से पहुंचे सज्जाद अंसारी ने जिला प्रशासन के साथ ही गोसाईंगंज थानाध्यक्ष ओमवीर सिंह चौहान पर गंभीर आरोप मढ़े। सज्जाद अंसारी ने बताया कि मंगलवार की सुबह ही गोसाईंगंज थाने के एसओ और जिला प्रशासन के अधिकारियों को बताया गया था कि पूर्व प्रधान हमला करने वाले हैं। बावजूद इसके पुलिस सोती रही। इसी का नतीजा है कि उनके घर पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर चाचा और भतीजे को गोली मार दी गई।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close