Breaking NewsDelhi

दिल्ली : कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग पर अड़े रहे किसान नेता, वार्ता का छठा दौर निरस्त

नई दिल्ली। केंद्र सरकार और किसानों के बीच मंगलवार को वार्ता बेनतीजा रहने के बाद बुधवार को 14वें दिन भी हजारों किसान दिल्ली की अलग-अलग सीमाओं पर डटे रहे और नए कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग पर अड़े हैं।

केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह द्वारा मंगलवार रात को बुलाई गई बैठक में कोई समाधान नहीं निकला। कृषि कानूनों में संशोधन करने के सरकार के प्रस्ताव को ठुकराने वाले किसान नेताओं ने कहा कि कानून निरस्त करने से कम कुछ भी उन्हें मंजूर नहीं है। 

इस बीच, दिल्ली की अलग-अलग सीमाओं पर चल रहे प्रदर्शन को समाप्त कराने के लिए सरकार और किसान संगठनों के बीच बुधवार को प्रस्तावित छठे दौर की वार्ता भी रद्द कर दी गई है।

दिल्ली के सिंघु, टिकरी, गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों के प्रदर्शन जारी रहने से यातायात बाधित हो गया। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने ट्वीट के जरिए लोगों को बताया कि टिकरी, झड़ौदा, ढांसा बॉर्डर यातायात के लिए बंद है। झटीकारा बॉर्डर केवल दुपहिया वाहनों और पैदल चलने वालों के लिए खुला है।

ट्रैफिक पुलिस ने हरियाणा की तरफ जाने वालों को दौराला, कापसहेड़ा, बडूसराय, रजोकरी एनएच-आठ, बिजवासन-बजघेड़ा, पालम विहार, डुंडुहेड़ा बॉर्डर से जाने को कहा है।

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने ट्वीट किया, ”सिंघु, औचंदी, पियाऊ मनियारी, मंगेश बॉर्डर बंद हैं। दोनों तरफ एनएच-44 बंद है। लामपुर, सफियाबाद, सबोली, एनएच-आठ, भोपुरा, अप्सरा बॉर्डर के जरिये वैकल्पिक मार्ग का इस्तेमाल करें। ट्रैफिक पुलिस ने कहा कि मुकरबा चौक और जीटीके रोड से ट्रैफिक को दूसरी ओर मोड़ दिया गया है और यात्रियों को बाहरी रिंग रोड, जीटीके रोड, एनएच-44 से परहेज करने को कहा है। 

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close