Breaking Newsउत्तर प्रदेश

गोरखपुर संस्थापक समारोह में बोले सीएम योगी, ‘राम मंदिर देश के नागरिकों की देन है’

गोरखपुर। गोरखपुर में महाराणा प्रताप शिक्षा परिषद के संस्थापक सप्ताह समारोह शुरू हो गया है। इस दौरान कार्यक्रम के मुख्य अतिथि देश के चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा मौजूद हैं। कार्यक्रम में सीएम योगी ने लोगों को संबोधित मुख्य अतिथियों के प्रति आभार प्रकट किया। उन्होंने राम मंदिर बनने का श्रेय भी जनता को दिया है।

उन्होंने कहा कि चुनौती आपकी व्यक्तिगत व सामाजिक जीवन की हो सकती है। राष्ट्रीय जीवन की भी हो सकती है, इन सब में आप की क्या भूमिका होगी, इसका सामना करने के लिए आप सभी को तैयार करना होगा। मेरे गुरु और गुरु पीठाधीश्वर महंत अवैद्यनाथ जी, जिन्होंने लंबे समय तक के माध्यम से शिक्षा परिषद को एक नवीन ऊंचाइयों को लाने का काम किया था उनका लोकार्पण समारोह मुख्य अतिथि ने किया। यह प्रतिमा हमारे लिए प्रेरणा है।
उन्होंने कहा कि मैं रात में जनरल बिपिन रावत से चर्चा कर रहा था, मैंने कहा कि एक बात बताएं- देश की सीमाओं की रक्षा करता हुआ हमारा एक सैनिक उन क्षेत्रों में देश की रक्षा कैसे कर पाता है। जहां एक से दो दिन कोई व्यक्ति गया और मौज-मस्ती कर वापस आ गया। लेकिन जवान निरंतर दिन रात देश की सीमाओं की रक्षा करते हुए कैसे संभव हो पाता है।
जवाब ने कहा कि यह तो आसान कार्य है, सैनिकों को उन पहाड़ों पर नई ऊर्जा मिलती है, इसीलिए वहां रह रहा है। क्योंकि उसको उसी के अनुकूल बनाना है। जब वह अपने अनुकूल बनाता है तब वह दुश्मन की छाती को भेदने की क्षमता रखता है।

उन्होंने कहा कि हमको इस बात का ध्यान रखना होगा कि कोविड-19 हमारे सामने चुनौती जरूर प्रस्तुत की । लेकिन आपदा में हमने नई कार्यपद्धती को विकसित किया। इससे जीवन आसान हो गया। बच्चों ने ऑनलाइन क्लास शुरू कर दी। अब तमाम बच्चे कहते हैं कि हम फिजिकली भी स्कूल जाना चाहते हैं। हमारे स्कूल कब खुलेंगे।
कोरोना से सफलता पूर्वक लड़ रहा है देश
सीएम योगी ने बताया कि बिपिन साहब ने उसके बारे में कहा कि बहुत सारी बातें हम क्लास में बैठकर ही समझ सकते हैं। हर चीज गूगल से संभव नहीं हो सकती है। कोविड-19 के बारे में केंद्र और प्रदेश सरकार अपने स्तर पर पूरा प्रयास कर रही है। जागरूकता ही बचाव है। आने वाले समय में वैक्सीनेशन भी हो इसकी भी तैयारी है। लेकिन जब कोई वायरस एक बार आ जाता है, तब लंबे समय तक रहता है। ऐसे में बचाव का रास्ता जनता को सतर्कता के माध्यम से ही निकालना होगा और यह सतर्कता का रास्ता आप सभी लोगों के लिए महत्वपूर्ण है।

उन्होंने कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश में इंसेफेलाइटिस जैसी महामारी के खिलाफ एक लड़ाई लड़ी गई है। इसका नतीजा रहा कि इस पर काबू पाया गया। 2017 के पहले जुलाई से सितंबर के बीच में हजारों मौत हो जाती थी। लेकिन पिछले 3 वर्षों के दौरान इस पर काबू पाया गया।  सरकार के प्रयासों से मौत के आंकड़ों को नियंत्रित करने में सफलता मिली।

सीएम योगी ने आगे कहा कि प्रदेश सरकार जगह-जगह पब्लिक ऐड्रेस सिस्टम लगा रही है जो हर व्यक्ति को 2 गज का पालन और मास्क जरूरी को लेकर निरंतर जागरूक कर रहा है। पूरी दुनिया कोरोना वायरस से लड़ रहा है लेकिन इसमें भारत ही सफलतापूर्वक लड़ाई लड़ रहा है। वहीं हमारी रक्षा सेना देश की सीमाओं की रक्षा पूरी मजबूती के साथ कर रही है। भारतीय सेना जिस मजबूती के साथ भारत के गौरव को आगे बढ़ाने का काम कर रही है, वह अभी अमूल्य है।

उन्होंने कहा कि इस मंच के माध्यम से ब्रह्मलीन महंत दिग्विजय नाथ और ब्रह्मलीन महंत अवैद्यनाथ की प्रतिमा स्थापित किए हैं। शिक्षा नीति का गठन सभी पहलुओं को ध्यान में रखकर किया गया। महाराणा प्रताप शिक्षा परिषद की सभी संस्थाएं 45-46 संस्थाएं शिक्षा परिषद के अंदर अलग-अलग संस्थाओं काम कर रही है। नई शिक्षा नीति में समितियां जुड़कर काम करें। जिससे की प्रधानमंत्री के सपनों को पूरा किया जा सके। अयोध्या में बन रहा राम मंदिर राम राज्य की परिकल्पना को साकार कर रहा है। यह देश की सभी नागरिकों की देन है। 500 वर्षों का प्रताप है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बदौलत यह संभव हुआ है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close